Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ

रोज नई नई गर्मागर्म सेक्सी कहानियाँ Only On Antervasna.Org

सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-3

Sadabahar Smile Wali Gori Gudiya- Part 3

अभी तक आपने मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी में पढ़ा कि मेरी बीवी एक क्सक्सक्स मूवी में गांड चुदाई के सीन की शूटिंग कर रही है.
अब आगे:

ब्रेक ख़त्म होते ही मेरी पत्नी उठ कर सोफे से नीचे उतर गई, उसने नीचे लेते हुए रुस्लान के लंड को झुक कर अपने मुंह में भर लिया और चपोक-चपोक की आवाज के साथ चूसना चालू कर दिया. ठीक तभी चंगेज़ भी अपने लौड़े को उसके मुंह के नजदीक ले आया, और मेरी प्यारी परी ने दूसरे लंड को भी अपने छोटे से मुंह में जगह दे दी! थोड़ा सा चुभलाने के बाद गोरी पतली डॉल ने दोनों लंडों को मुंह से बाहर निकाला और बारी बारी से प्रत्येक लंड को चूसने लगी.

उसने इस बार लड़कों को दिखा दिया कि क्यों वो सबसे शानदार पोर्न एक्ट्रेस थी! उसने कम से भी कम 8-8 या 9-9 इंच लम्बे लंड को जड़ तक अपने मुंह में लेते हुए चूस कर दिखाया!
दोनों हुष्ट-पुष्ट लड़के मेरी पत्नि की इस अदाकारी पर निहाल हो गए!

रुस्लान ने गंभीर मुखमुद्रा बनाए रखते हुए चुदक्कड़ लड़की का मुंह खोलते हुए उसकी जीभ को अपनी उँगलियों से पकड़, उलटे हाथ से उसके गाल पर मीठी सी चपत लगाते हुए आगे भी इसी तरह शानदार परफॉरमेंस करते रहने का हुक्म दिया, जिसे मेरी आज्ञाकारी पत्नि ने सहर्ष शिरोधार्य कर लिया!

इसके बाद चंगेज़ सोफे पर लेट गया और उसने चिकनी रूसी लड़की को अपने पेट पर सवार करते हुए अपने सलामी मारते हुए लंड को नताशा की गुलाबी चूत में घुसेड़ दिया.
चंगेज़ का चिकना, नंगे टोपे वाला मोटा लंड फचाफच की आवाज के साथ अन्दर-बाहर होने लगा, तभी रुस्लान ने भी पीछे से आकर अपना और भी मोटा लंड मेरी पत्नी की रस भरी गांड में ठूंस दिया. दो शानदार मोटे, चिकने लंड केलों की तरह चूत और गांड के अन्दर-बाहर चलने लगे! मेरी नताशा ख़ुशी से मीठी-2 सिसकारियां भर रही थी.

जब एक ब्रेक के दौरान चंगेज़ ने अपना फनफनाता हुआ लंड वापस चूत की जगह मेरी प्यारी पत्नी की गांड में घुसेड़ दिया, और खड़ा हुआ रुस्लान तो वैसे ही सिर्फ गांड ही मार सकता था, तो उसने भी जगह बनाते हुए अपना मोटा लंड मेरी पत्नी की गांड में पेल दिया. लेटे हुए चंगेज़ ने अब उसका लंड गांड में घुसए हुए ही उसके पेट के ऊपर लेटी नताशा के पैर आपस में जोड़, अपने हाथों द्वारा, बाईं तरफ ऊपर की ओर उठा दिए, जिससे अब लड़की को अपनी गांड में घुसे हुए दोनों लंड साफ़ नजर आने लगे!

मेरी पत्नी को इस पोज में अपनी गांड मरवाते हुए बहुत मजा आ रहा था और वो इठलाते हुए अपनी जीभ पतली कर, अपने होठों पर फेर रही थी.

कुछ देर इसी पोज में चोदने के पश्चात् लड़कों ने अपने लंड बाहर निकाल लिए और खड़े हुए. रुस्लान ने मेरी धर्मपत्नि की खुल चुकी गांड को अपने दोनों हाथों से काफी देर तक चौड़ा करने का खेल खेला. तत्पश्चात, अब तक सोफे पर बैठ कर आराम कर चुकी नताशा के मुंह को निशाना बना लिया. दोनों लड़कों ने अपने फनफनाते हुए लंड रूसी लड़की के मुंह में घुसेड़ दिए.
मेरी धर्मपत्नि हल्के हाथों से सहलाते हुए दोनों गर्दभ लंडों को अपनी नर्म-गुलाबी जीभ से कुछ देर सहलाती रही, इसके पश्चात् सामने खड़े रुस्लान ने अपनी पोजीशन पक्की करते हुए शानदार पोर्न एक्ट्रेस के मुंह को अपने पत्थर लंड से चोदना चालू कर दिया.

पीछे खड़े चंगेज़ ने अपने लंड के सामने की ऊंचाई पर पड़ने वाले लड़की के कन्धों को रगड़ना शुरू कर दिया, इस प्रकार किसी और छेद के ना मिल पाने की दशा में उसने अपने लंड को लड़की की बगल में घुसा कर चुदाई शुरू कर दी. उसने लड़की की पतली, ककड़ी जैसी बांह को उसकी बगल से जोड़ दिया, इस प्रकार बनी दरार में अपना लंड घुसा कर जबरदस्त पिलाई शुरू कर दी. उसने रुस्लान का लंड चूसती मेरी पत्नी की बाल पीछे से पकड़ कर खींचने शुरू कर दिए, लंड को बेतहाशा उसकी बगल में घिसने लगा.

कुछ देर बाद रुस्लान ने शानदार जवान लड़की को उठा कर सोफे पर लिटा दिया, उसके पैर फैला कर ऊपर आसमान में उठा दिए. अब उसने ऊपर की ओर उभर चुकी गांड के छेद को निशाना बनाया और अपने चिकने, गीले लंड को अन्दर घुसा दिया.
लेटी हुई नताशा के पीछे से सोफे के हत्थे पर बैठे चंगेज़ ने अपने तने हुए लंड को मेरी पत्नी के सर को अपने बाएँ हाथ से उभारते हुए मुंह के अन्दर घुसेड दिया.

दोनों लड़के जंगली जानवरों जैसी आवाजें निकालते हुए मुंह और गांड की जबरदस्त चुदाई करने लगे! कमसिन जवान लड़की ने इतनी जबरदस्त चुदाई होने पर भी अपने चेहरे पर से सदाबहार मुस्कराहट को पल भर के लिए भी मिटने नहीं दिया और पूरी बत्तीसी फाड़ कर रुस्लान के मोटे लंड को अपनी फैली हुई गांड में घुसवा लिया!

पीछे खड़े चंगेज़ ने पहले अपने लंड से मेरी पत्नी के होठों को थपथपाया और फिर उसके सर को उभारते हुए उसके मुंह में घुसेड़ दिया. सामने खड़ा रुस्लान बेतहाशा हुंकारता हुआ भक्काड़ा हो चुकी गांड में अपने लंड को पूरा बाहर निकालता हुआ अन्दर घुसेड़ने लगा था. उसकी हुंकारों से सारा कमरा गूंज रहा था और पूरा क्रू दम साधे, और शायद अपने-2 लंड भींचते संभवतः दुनिया की सबसे शानदार चुदाई का गवाह बना हुआ था!

इधर अपने लंड से मेरी प्यारी पत्नि की गांड को भक्काड़ा कर चुके रुस्लान से अब उसी गांड में अपनी जीभ घुसाने का लोभ संवरण नहीं हो पा रहा था, उसने मौका पते ही अपनी जीभ को बारीक़ बना, लड़की की सुगन्धित, सुस्वादिष्ट गांड के अन्दर घुसेड़ दिया. नशीला नमकीन स्वाद चखने के पश्चात् रुस्लान ने नताशा को कमर के बल काले चमड़े के नर्म सोफे पर लिटा दिया और मेरी पत्नी ने अपने दोनों पैर मोड़ कर अपने कंधो के गिर्द टिका लिए.

यहाँ मैं आपको थोड़ा रुक कर नताशा के एक शानदार जिमनास्ट होने के बारे में बताना चाहूँगा… मेरी पत्नी बचपन से ही जिम्नास्टिक की खिलाड़िन रही है और स्कूल में पढ़ते हुए उसने जिम्नास्टिक में पारंगता हासिल कर ली है. इस तरह की कलाबाजियां, जैसे पैरों को मोड़ कर अपने कन्धों पर रख लेना, या एक पैर पर खड़े होकर पीछे से एक लंड अपनी गांड में घुसवा लेना, दूसरे को सामने से अपनी बिल्लो में समा लेना उसके लिए बाएँ हाथ का खेल है… लेकिन आज उसको एक दूसरा ही इम्तिहान पास करना था.

उसके ऊपर चढ़े चंगेज़ ने उसकी चूत को निशाना बनाते हुए अपना भरकम लंड अन्दर घुसेड़ दिया और सामनी खड़े रुस्लान ने अपने लंड की सीध में आई गांड में! मेरी नताशा इस शानदार चुदाई से निहाल-निहाल हो उठी!
पोज़ हालाँकि मुश्किल था, लेकिन लड़के भी तो जवान थे! मेहनत करके ही सही, दोनों ने अपनी कमर सिकोड़ कर, पेट भींच कर आखिर असंभव को संभव बना दिखाया और उलटे पोज़ में ही चूत, और गांड की चुदाई आरंभ कर दी.
इस पोज़ की खास बात ये थी कि दोनों मोटे-मोटे लंड एक दूसरे से काफी दूरी बना कर दो नजदीकी छेदों को चोद रहे थे, जिस कारण वोह खूब फंस-फंस कर अन्दर घुस पा रहे थे और उत्तेजनावश रफ़्तार अधिक हो जाने पर रह-रह कर बाहर निकल जाने की हद तक आ जाते थे लेकिन फिर लड़के उन्हें वापस छेदों में फंसा देते थे!

इस मुश्किल से निजात पाने की खातिर गांड मारते चंगेज़ ने इस प्रक्रिया पर ब्रेक लगाया और रुस्लान के लंड से खाली हुई चूत को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया. उसकी दाढ़ी इस प्रक्रिया में मेरी पत्नि की गांड से रगड़ खाने लगी, जिससे ब्लोंड लड़की के होठों पर मुस्कान और खिल गई.

तत्पश्चात बकरे की दाढ़ी वाले चंगेज़ ने मेरी भार्या की गांड को मांजने की हद तक चाटना शुरू कर दिया, और अंत में अपने मुंह से थूक का मोटा सा लेवड़ निकाल कर मेरी धर्मपत्नि की गांड पर थूक दिया.
अब लड़के ने नताशा की कमर के ऊपर चढ़ कर ऊपर से किसी हथौड़े की भांति अपने लंड को गीली हो चुकी गांड में अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया और पीछे से आए रुस्लान ने चरमोत्तेजित लंड से मेरी धर्मपत्नि के गर्भाशय को!
क्या शानदार नजारा था.. दो लोहा-लाट जवान लंड दो गुलाबी छेदों के अन्दर खूब फंस-फंस कर अन्दर-बाहर आ-जा रहे थे! इतने फंस-फंस कर कि फिल्म डायरेक्टर को भी झड़ने का खतरा महसूस होने लगा और उसने इशारे से लड़कों को ब्रेक लेने का हुक्म दे दिया, जिसे लड़कों ने खुशी के साथ स्वीकार कर लिया.

अब चंगेज़ मियां मेरी बीवी की चूत में अपनी उंगली डाल-डाल कर खेलने लगे और हमारी बीवीजान की बत्तीसी और ज्यादा खिल उठी, वो अपनी सुरीली उह-आह से स्टूडियो के वातावरण को मतवाला किए जा रही थी, लगभग सभी मर्दों के लंड पैंट फाड़ कर निकलने को तैयार थे.

चंगेज़ अपनी दो उँगलियों को नताशा की चूत में डाल कर अन्दर ही अन्दर उन्हें गांड के छेद से बाहर निकलने लगा! रूसी गोरी अब इतनी मतवाली हो चुकी थी कि उसे इस प्रक्रिया में जरा भी परेशानी नहीं हो रही थी, उसने अपने संगीतमय गले से सारे स्टूडियो को रूमानी बना रखा था.

कुछ देर छेदों के साथ खेलने के उपरांत चंगेज़ ने रुस्लान को प्रेमिका का छोटा छेद सौंप दिया और रुस्लान घुटनों के बल लेट चुकी अभिनेत्री के चूतड़ों के ऊपर खड़ा होकर उसकी गांड मारने लगा. रुस्लान ने धीमी शुरुआत करते हुए धीरे-2 धक्कों की गति बढ़ानी शुरू कर दी और कुछ सेकंडों में ही वो बुलेट ट्रेन की रफ्तार से अपना हथौड़े जैसा लंड गुलाबी गांड में अन्दर बाहर करने लगा!

मुझे हॉल में लगे एल ई डी मॉनिटर पर जिस प्रकार नताशा की गांड में घुसते विशाल लंड की नस-नस साफ नजर आ रही थी, उसी प्रकार उस फौलादी लंड को निगलती गुलाबी, रसीली गांड और उसके नीचे सिसकती, रस टपकाती मेरी पत्नी की छोटी सी, प्यारी चूत भी!
कुछ देर भयंकर चुदाई करने के बाद रुस्लान गांड से नीचे उतर आया और दोनों लड़के सोफे पर अपने लंड पकड़ कर अगल-बगल बैठ गए. मेरी शानदार पत्नी ने उनके लौड़ों को अपने हाथों में पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. उसने पहले चंगेज़ के लंड को खूब प्यार के साथ चूसा और फिर अपना लंड नजदीक लाते हुए रुस्लान का.

पूरी तरह से उत्तेजित दोनों लंड रति सम्राज्ञी के मुंह से दूर हटना ही नहीं चाह रहे थे तो मेरी बेचारी नताशा को सिर्फ यही सूझा कि उसने भोली सूरत बनाते हुए दोनों खूंटे जैसे लंड इकट्ठे ही अपने मुंह में भर लिए!!!
बमुश्किल छोटे से मुंह में समाए दोनों लंड अन्दर घुस कर भी शांत नहीं हो रहे थे और धक्के लगाने जारी रखे हुए थे. मेरी प्यारी पत्नी पूरी मेहनत के साथ अपने छोटे से मुंह से दो खूंटा तोड़ लंडों को शांत करने का यथसंभव प्रयत्न कर रही थी लेकिन दोनों गंवार लंड किसी भी प्रकार से शांत नहीं हो रहे थे और प्यारी सी गुड़िया के मुंह को ही फाड़ देने पर उतारू हो चुके थे!

तब मैंने इशारे से डायरेक्टर को अपनी शिकायत दर्ज की, उसने इशारा करते हुए शूट कट करने का हुक्म दे दिया. मेरी जान में जान आई, और लड़कों के लंड मेरी बेचारी पत्नी के मुंह से बाहर निकल आए.

अगले सीन में मेरी भार्या को सोफे पर लेटे हुए रुस्लान के लोहालाट लंड को अपनी गांड में लेते हुए बैठना था और सामने खड़े चंगेज़ के खतना लंड को अपने मुंह में जगह देनी थी. दोनों ही काम बखूबी निभाते हुए नताशा फिर से चुदना शुरू हो गई और रुस्लान नीचे से उसके कूल्हे पकड़कर उसको ऊपर की ओर उभरता हुआ गांड में धक्के लगाने लगा, जबकि चंगेज़ उसका सिर पकड़ कर उसके थके हुए मुंह को चोदने लगा.

रुस्लान का लंड गांड में गहरे, और गहरे घुसता हुआ फट पड़ने को तैयार धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था, जबकि कुछ इसी हालत में चंगेज़ अपने तपते लोहे जैसे लंड को फचर-फचर की आवाज के साथ रूसी लड़की के मुंह में तेजी से पेले जा रहा था!

सामने लगी एल ई डी स्क्रीन पर नताशा की गांड में घुसता हुआ रुस्लान का लंड अब अत्यधिक विकराल नजर आने लगा था और मेरी पत्नी की छोटी सी प्यारी, नन्ही गांड के अन्दर किसी दैत्य की तरह अधिकार जमाए हुए था.

जब डायरेक्टर को फिर से ‘खतरा’ नजर आने लगा, तो उसने पुनः ‘कट’ का आदेश दिया और स्थिति को सामान्य कर दिया.

थोड़े से विश्राम के पश्चात् मेरी सुन्दर पत्नि को फिर से सोफे से कमर टिकाए रुस्लान के लंड को अपनी अब तक बुरी तरह पिट चुकी गांड के अन्दर लेते हुए उकड़ूं बैठना था, जिसे उसने बखूबी अंजाम दिया और पीछे से आए चंगेज़ के लंड को पीछे की तरफ नीचे झुकता हुए अपने भक्काड़ा हो चुके मुंह में ले लिया.
लेकिन चंगेज़ अब झड़ने की कगार पर पहुँच चुका था और उसने जल्दी ही अपना लंड मेरी जान से प्यारी नताशा के मुंह से बाहर निकाल लिया और मुट्ठी में भर कर उसे मेरी बीवी के मुंह के सामने दोहने लग गया.
अपने शानदार, सफ़ेद दांतों की पंक्तियों को दिखाते हुए मेरी अप्सरा जैसी सुन्दर पत्नी आँखें बंद कर, हॉलीवुड स्माइल के साथ अपनी मखमली-गुलाबी जीभ बाहर निकाले तैयार हो चुकी थी.

तभी किसी शेर की तरह दहाड़ते हुए चंगेज़ ने झड़ना शुरू कर दिया… उसकी मोटी, सफ़ेद वीर्य की बूंदें सुन्दरी की जीभ पर टपकने लगी, और फिर उसके होंठ, गले और छाती पर गिरते हुए उसे पूरी तरह से ढक दिया. मेरी सदाबहार पत्नी ने अपनी एवरग्रीन स्माइल के साथ अपने मुंह में गिरी वीर्य की बूंदों को कैमरे के सामने और विशेषतः मुझे प्रदर्शित करते हुए पी लिया!

सारा चेहरा वीर्य से सन कर अत्यधिक सुन्दर लगने लगा था… और कैमरे के सामने देखते हुई नताशा की आँखें मानो मुझसे कह रही थी- ये मेरा प्यार भरा गिफ्ट मेरे प्यारे पति के लिए!

उधर गुदगुदी गांड के अन्दर अपना लंड पेलते रुस्लान की भी बारी आ चुकी थी, उसने झटके के साथ अपना पेनिस बाहर निकाल कर हाथों से मुठ मारनी शुरू कर दी.
अपनी सपाट चूत को सहलाती हुई रसियन लड़की घुटनों के बल अपने चूतड़ कारपेट पर टिका कर बैठ गई और बाएँ हाथ से अपनी खुली चूत को सहलाने लगी.

उसकी दाईं तरफ झड़ चुका चंगेज़ अभी तक अपने लंड को मुठ मार रहा था, और दाईं तरफ उगलने को तैयार रुस्लान!! रुस्लान ने भी भयंकर गर्जना के साथ अपना लंड मुट्ठी में भींच कर नताशा के मुंह को निशाना बनाया, और वीर्य की धार की पिचकारी अन्दर पहुंचानी शुरू कर दी.

मेरी प्राणप्यारी नताशा ने कुछ वीर्य पी लिया और कुछ वीर्य उसके स्तनों पर टपक गया, जिसे उसने अपनी हथेलियों से अपने शरीर पर मल लिया. स्लो मोशन डांस की अदा दिखाते हुए मेरी पत्नी ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया और अंतिम क्सक्सक्स सीन में जब कैमरा उसके वीर्य सने चेहरे पर आया तो नताशा ने अंतिम डायलॉग के रूप में अपने होठों को गोल करते हुए, अपनी सदाबहार मुस्कान के साथ कहा- मेरी आज की ये परफॉरमेंस मैं अपने प्यारे हसबैंड को डेडीकेट करती हूँ… आई लव यू डार्लिंग!!!

मेरी बीवी की चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लगी?
3in1@inbox.ru

Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ © 2018