Home / चुदाई की कहानी / मेरी रशियन बीवी दो लंडों से खेली-1

मेरी रशियन बीवी दो लंडों से खेली-1

Meri Russian Biwi Do Lundon Se Kheli-1

मैं भारतीय हूँ, रशिया में रहता हूँ, मेरी बीबी भी रशियन है. मेरी नोन वेज स्टोरी पेश कर रहा हूँ.

गर्मियों में नताशा संग हम हंगरी गए थे. वहां होटल में हम पहले ही दिन एक इतालियन ओमार से परिचित हुए, जो कि रह रह कर मेरी पत्नी को देखे जा रहा था. आखिर जब उससे रहा ही नहीं गया तो वो हमारी टेबल की ओर चला आया. और फिर बातों बातों में हमारे रूम, बल्कि हमारे बिस्तर पर भी पहुँच गया.
फिर शाम को हमारे बिस्तर पर शानदार ग्रुप फकिंग भी चली और मशहूर इतालियन पोर्न एक्टर ने मेरी सुन्दर गुड़िया को अपने मोटे लंड से खूब जी भर के चोदा!
ओमार खुश हो गया और उसने नताशा को एक मोटी रकम भेंट दी, जिसके साथ साथ उसने उसे और बीस हजार डॉलर देने का वादा भी किया क्योंकि वो पूरे हफ्ते उसका साथ चाहता था!

अगले दिन हम उसके साथ होटल के नजदीक ही घूमने निकले और हमारे सामने एक छोटी सी झील थी. उस शांत इलाके में हमें बहुत अच्छा लगा क्योंकि बहुत कम लोग थे, बिल्कुल शांति थी वहां पर.
इसके अतिरिक्त हमने एक चप्पू से चलने वाली नाव भी किराए पर ले ली और झील में घूमने निकल पड़े. झील में कुछेक नावें तैर रही थीं. हमारी बगल वाली एक नाव में काला चश्मा लगाए एक नीग्रो और गोरी नस्ल का दोगला लड़का आराम से, बिना हमारी दिशा में देखे बैठा चप्पू चला रहा था. हम ओमार संग चप्पू चलाते हुए बातें करने लग गए और नताशा पानी में होने वाली हलचल को देखने लग गई.

“मालूम है साशा, मैं नताशा को किसी मोटे लंड वाले काले आदमी के संग मिल कर चोदना चाहता हूँ… मेरी उसे दो दो मोटे लंडों को एक साथ चूसते हुए देखने की इच्छा है! तुम बुरा मत मानना, लेकिन तुम्हारा लंड इतना मोटा नहीं है… कम से कम मेरे जितना तो नहीं!”
“मैं इसके विरुद्ध नहीं, तुम्हें नताशा से पूछना चाहिए..” मैंने शांतिपूर्वक उत्तर दिया.
“मुझे भी कोई परेशानी नहीं लेकिन अब तुम लोग काला आदमी कहाँ से ढूंढोगे?” अपने धूप में गुलाबी हो चले चेहरे के साथ नताशा ने पूछा.

ओमार खुश हो गया, उसने अपनी नजर दौड़ाई और वो हमारी नाव के नजदीक तैरती नाव जिसमे सांवली रंगत वाला लड़का बैठा था पर जा कर मुस्कुराते हुए स्थिर हो गई.
हाँ तो… चलेगा?” आँखें फाड़ते हुए, कुटिल मुस्कान के साथ ओमार ने नताशा से पूछा.
नताशा भी नम्र मुस्कान के साथ सहमत हो गई और ओमार ने मुझे नाव किनारे पर ले जाकर उतार दिया और फिर वो कांसे के रंग वाले मोलेट की नाव की और नाव चलाने लगा.
“अरे भाई! सुनना जरा!!” लड़के की नाव के नजदीक पहुँचने पर ओमार ने सांवले लड़के को आवाज दी- हमें तुमसे कुछ बात करनी है…
और आगे मुझे कुछ सुनाई नहीं दिया क्योंकि एक दूसरे के नजदीक पहुँचने पर वो मंद स्वर में बात करने लगे थे.

इसके बाद ओमार और काला चश्मा लगाया मोलेट काफी देर तक बातें करते रहे और अंत में मेरी पत्नी ओमार की नाव से सावधानी पूर्वक मोलेट की नाव में शिफ्ट हो गई और मोलेट संग वो दोनों ओमार की नाव से दूसरी दिशा में चल दिए.
ओमार प्रसन्न चेहरे के साथ इतालियन भाषा में गाना गाने लगा और मोलेट मेरी पत्नी के साथ चुम्बन करने में मशगूल हो गया. लगभग पांच मिनट बाद दोनों ही नावें किनारे पर आ गईं, और हम चारों लोग मस्ती में हँसते हुए, गलबहियाँ हुए होटल के सामने बने पार्क से होकर होटल में प्रविष्ट हो गए.

नताशा ओमार और मोलेट के बीच जकड़ी हुई किसी नन्ही सी राजकुमारी के समान खिलखिला रही थी. दोनों पुरुष बारी बारी से उसके होठों को चूमते हुए होटल की तरफ बढ़ने लगे और मैं उनके पीछे.
रिसेप्शन से होकर हम लोग सेकंड फ्लोर पर स्थित अपने कमरे में आ गए तो ओमार उतावला होकर मेरी पत्नी को मसलता हुआ कहने लगा- शानदार… हमारी छोटी सी नताशा को आज दो दो मोटे लंड मिलेंगे! दो दो लंड एकसाथ! एक सफ़ेद, एक काला! है ना, नताशा? तुम चाहती हो ना?
“आ हाँ.. चाहती हूँ!” सुन्दरी ने संक्षिप्त उत्तर दिया.

“हाँ… चलो, जाकर अपने नए दोस्त को ठीक से चेक कर लो!” कुटिल मुस्कान के साथ नताशा को मोलेट, जिसका नाम किड जमैका था, की ओर भेजते हुए ओमार बोला. फिर वो नताशा के साथ चुम्बन करता हुआ लाल सोफे की ओर चल दिया जिस पर किड बैठा था.
ओमार संग चुम्बन करते हुए मेरी वाइफ की गांड को किड ने कुरेदना शुरू कर दिया था जबकि ओमार लाल चमड़े की ऊंची बार स्टूल पर बैठा हुआ अपने लंड को हाथ में पकड़ कर मसल रहा था, और किड जमैका ने सामने से मेरी विश्वासपात्र अर्धांगिनी को उसकी कमर से आलिंगनबद्ध कर एक हाथ की मध्यमा उंगली से उसकी गांड की गहराई नापने लग गया था! जब उसने उंगली बाहर निकाल कर रूसी सुन्दरी को लाल सोफे के ऊपर उसके चौपायों पर कुतिया बना, अपनी लाल जीभ मेरी जीवनसंगिनी की गांड में घुसेड़ी तो वो उत्तेजना के अतिरेक में कतई मस्त हो चली!

इस पोज में किड ने मेरी नन्ही सी गुड़िया के गुदा द्वार को अपनी लाल, सख्त जीभ को नुकीली बना, अन्दर और अन्दर घुसेड़ते, बुरी तरह से चोद कर रख दिया!
वो अपनी निरीक्षण करती हुई सी आँखों से मेरी भार्या की चुदाई मशीन को देख कर बोला- ओ के, अब तैयार है… अब तुम्हारी मस्त गांड हमारे धुआं उगलते लंडों को लेने के लिए बिल्कुल तैयार है!! अब तक ओमार कबर्ड से लाल रंग का स्टीम्युलेटर ले आया था और उसने उसे मेरी नताशा की नन्ही सी गांड में, बड़बड़ाते हुए.. ‘अच्छा लग रहा है मेरी गुड़िया को? मजा आ रहा है ना कि कैसे मोटा लंड उसकी नन्ही सी गांड में घुस रहा है!! तुम चाहती हो कि तुम्हारी गांड में दो दो लंड घुसें?” मेरी रूसी पत्नी की गांड में घुसेड़ दिया.

ऊह आह की आवाज निकालते हुए मेरी प्यारी पत्नी सिलिकॉन से बने लंड को अपनी गुलाबी गांड में पिलवाने लगी. कुछ देर आधा अधूरा लंड गांड के अन्दर घुसेड़ने के बाद ओमार ने उसे और ज्यादा अन्दर घुसेड़ना चालू कर दिया और कुछ देर बाद लाल सिलिकॉन का मोटा-सख्त लंड जड़ के मोटे हिस्से तक मेरी अर्धांगिनी की गांड में घुसना शुरू हो गया!

किड ने स्टिम्युलेटर को बिना बाहर निकाले ओमार के हवाले कर दिया और अपना मोटा काला-हब्शी लंड नताशा के मुंह में घुसेड़ कर चोदना चालू कर दिया. अब तक हमारी रुसी गुड़िया किड के साथ बिल्कुल खुल चुकी थी और ओमार संग मेरी उपस्थिति में भी बिना शर्माए अपनी नर्म गुलाबी जीभ से चप-चप की आवाज के साथ किड के लंड को चाटने में लगी हुई थी!

अब तक सिलिकॉन के लंड को एक तरफ फेंक ओमार अपनी उंगलियों को मेरी जीवनसंगिनी की गांड में नचाने लग गया था, कभी एक चूत में, दूसरी गांड में, कभी दो चूत में और एक गांड में, तो कभी दोनों छेदों में दो-दो उंगलियाँ घुसेड़ते हुए.. इस प्रक्रिया में थूक की प्रचूर मात्रा सदैव उसकी उंगलियों में विद्यमान रहती थी!

उधर मेरी पत्नी ने किड के मोटे ताकतवर लंड को चूसते चूसते अब उसके अंडों को भी चाटना शुरू कर दिया तो वो आनन्द के अतिरेक में पागल हो गया, और आँखें बंद करके अपने लंड को और गहरे मेरी पत्नी के मुंह में ठोकने की चेष्टा करने लगा.
एक बात तो बताना भूल ही गया था कि आज सुबह ही मैंने अपनी पत्नी को खूब बड़े आकार का चश्मा और नन्हा सा खिलौने नुमा हैट गिफ्ट किया था, जिन्हें पहने हुए वो अपनी उम्र से कहीं कम और कमसिन नजर आ रही थी और उसके चेहरे के हाव-भाव से ऐसा लग रहा था कि वो बेचारी बुरी तरह से फंस चुकी थी और अब उसकी गांड को आराम नहीं मिलने वाला था!!
नो रेस्ट फॉर द एस!

अब तक ओमार आकर उसके मुंह को चोदने लग गया था और उसने अपने एक हाथ से मेरी जीवन साथी की गर्दन पकड़ कर, दूसरे हाथ से उसकी गुद्दी को अपने लंड के ऊपर आगे-पीछे चलाते हुए लंड को नताशा के गले तक घुसेड़ने की कोशिश करनी शुरू कर दी.
किसी हैम जैसा मोटा, पत्नी की रंगत वाला कामुकता के चरम पर पहुँच आसमान की ओर सलामी देता हुआ ओमार का गोरा लंड मेरी पत्नी के चेहरे की पृष्ठभूमि में एक शानदार नजारा पेश कर रहा था!!

इस समय तक जब किड मेरी बीवी के अंदरूनी हिस्सों को छिन्न भिन्न करने में लगा हुआ था और हमारी सेक्स की देवी उसके लंड को अपने गुलाबी होठों से दबाए हुए उसे खुश करने का प्रयत्न करने में लगी हुई थी.
ओमार की नजरें लंड की गति की दिशा में ही घूम रहीं थीं! उसकी ऐसी उत्तेजित अवस्था देख कर मुझे लगा कि वो खुद ही किड के लंड को अपने मुंह में लेने का इच्छुक है!!

किड खड़ा हुआ मेरी पतिव्रता पत्नी के मुंह में अपना कठोर लंड ठोके जा रहा था, ओमार नर्म सोफे पर अपने चूतड़ टिकाए बैठ, किड के लंड को रुसी बाला के मुंह में घुसता देखते हुए उसकी गांड में हौले-2 अपना लंड चला रहा था.
मेरी नन्ही सी पत्नी के मुंह से निकलती मीठी चप-चप की आवाज और ओमार के हलक से निकलने वाली कराहों का सामंजस्य देखने लायक था! इस बार मुख चोदन में तल्लीन हब्शी ने अपनी दोनों हथेलियों से नाता का गला पकड़ लिया, और दे दनादन मुंह की चुदाई!!!

मुझे अच्छी तरह याद है, जब हम शुरू में मिले थे और कुछ समय बाद हमारे शारीरिक सम्बन्ध स्थापित हो जाने के बाद मेरी पत्नी ने मेरे लंड चूसने के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया था… कहने लगी थी.. फू! गन्दा काम!!
लेकिन मेरी काफी समय की मिन्नतों के बाद उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया था, परन्तु ज्यादा देर तक नहीं चूस पाती थी… लंड बाहर निकाल अपने जबड़े चलते हुए शिकायती स्वर में कहने लगती- ओ गॉड! कितना बड़ा है तुम्हारा!! मैं इसे और अपने मुंह में नहीं रख सकती!!! और अब क्या हो रहा था.. मेरे लंड से दुगने-तिगने बड़े-मोटे लंडों को मेरी नन्ही सी परी मजे के साथ घंटों तक लगातार चूस रही थी!

लेकिन थी तो वो भी आखिर हाड़-मांस की बनी हुई लड़की ही… आखिर थक ही गई और अपना मुंह लंड से अलग कर दिया. थोड़ा सुस्ता लेने के बाद, किड ने दुबारा अपना सामान उसके मुंह में घुसेड़ दिया लेकिन इस बार लंड ना घुसेड़ कर अपने अण्डों को मुट्ठी में इकट्ठा कर मेरी बीवी के मुंह में डाल दिया. किड ने सोचा था कि गोरी लड़की घबरा जाएगी लेकिन रूसी अप्सरा ने अपने आप को रण्डी नंबर वन साबित करते हुए शानदार तरीके से कल्लू के अण्डों को चूस-चाट कर दिखा दिया और फिर दोबारा उसके मोटे काले टोपे को मुंह में डाल कर चूसने लगी.

इतनी शानदार चुसाई मैंने पहले कभी नहीं देखी थी.. अपने बाएँ हाथ से उसके अण्डों को जकड़ कर पकडे हुए वो इतनी नाजुकता के साथ काले हब्शी लंड के टोपे पर अपनी नर्म-गुलाबी जीभ फेर रही थी कि साधारण इन्सान तो सिर्फ देखते ही झड़ जाए!
हालाँकि अब तक मेरी नताशा काफी हद तक विशाल आकार वाले लंडों की अभ्यस्त हो चुकी थी, लेकिन पर्याप्त अभ्यास न होने के कारण कभी कभी हाथी जैसे लंड को बाहर निकाल कर खांसने लगती थी.
किड के भयंकर धक्कों के बीच परिश्रमी नाता के मुंह से निकलने वाली चप-चप की मीठी आवाज रेगिस्तान में पानी की बूंदों के समान मालूम पड़ रही थीं! मेरी प्राण प्यारी अर्धांगिनी के मुंह से किड के वीभत्स धक्कों के बीच उड़ती हुई मधुर ध्वनि आर्केस्ट्रा की मधुर ताल प्रतीत हो रही थी.

इस बीच ओमार भी अपना लंड थामे किड की बगल में खड़ा हो गया, उसके खड़े होने के ढंग से लग रहा था कि वो रुसी वेश्या से बारी बारी किड का और अपना लंड चुसवाना चाहता था. मेरी शानदार वेश्या पत्नी ने किड के लंड को चूसना छोड़े बिना ओमार के लंड को अपने बाएँ हाथ में पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया. किड का लंड चूसते समय हमारी स्वप्न-सुन्दरी के मुंह से इतनी मधुर-सुरीली ध्वनि निकाल रही थी कि अब अपना नंबर आने पर ओमार ने उत्तेजित होकर गोरी वेश्या को सिर से पकड़ भयंकर धक्के लगाता हुआ अपने हैवी लंड को बार्बी गुड़िया के हलक में पहुँचाने लग गया.

लेकिन जल्दी ही मेरी नाजुक पत्नी का दम घुटने लगा, तो ओमार को धक्के बंद कर अपना लंड बाहर निकालना पड़ा. लंड के बाहर निकलने के साथ उससे जुदा हुआ नताशा के थूक का एक तार भी खिंचता हुआ बाहर निकाल आया, जिसको ओमार ने अपने हाथ में समेट कर मुस्कुराते हुए अपने मुंह में डाल लिया.
अब उसने नताशा की मुश्किल को थोड़ा कम करने के लिए स्वयं के शरीर को थोड़ा सा आगे की ओर झुका लिया, जिससे उसके लंड की लम्बाई थोड़ी कम हो गई और दोबारा नताशा के मुंह को चोदना चालू कर दिया. 8-10 धक्के भयंकर गति से लगाने के बाद ओमार रुक गया और अपना लंड बाहर निकाल सहलाने लगा.

विश्व की सबसे सुन्दर लड़की हल्की सी मुस्कराहट के साथ दोनों हाथों से पकड़ कर अपने जबड़े चला कर दिखाने का प्रदर्शन करने लगी तो ओमार हंस दिया, साथ ही किड भी हंस पड़ा तो मैंने भी हँसते हुए उनका साथ दिया.
“हाँ-हाँ, खूब हंसिए आप लोग! यहाँ मेरी जान निकली जा रही है.. और आप हैं कि मेरी इस हालत पर हंस रहे हैं!” मेरी नन्ही सी पत्नी रुआंसे स्वर में बोली.
“अरे नहीं.. ऐसी कोई बात नहीं नताशा.. अगर तुम्हें कष्ट हो रहा है तो अब हम तुम्हारे साथ कोई जबरदस्ती नहीं करेंगे!” ओमार बोला.
वैसे तो ठीक है, बस थोड़ी कम ताकत लगाइए..” चेहरे पर हल्की सी मुस्कान लाते हुए मेरी वाइफ बोली.

यह नोन वेज स्टोरी जारी रहेगी.
3in1@inbox.ru

Check Also

शबाना चुद गई ट्रेन के बाथरूम में

Sabana Chud Gayi Train Ke Bathroom Me अन्तर्वासना के सभी दोस्तो को मोहित का प्यार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *