Home / लड़कियों की गांड चुदाई / मतवाला देवर राजू और भाभी की चुदाई-5

मतवाला देवर राजू और भाभी की चुदाई-5

Matwala Devar Raju Aur Bhabhi Ki Chudai- part 5

 

मतवाला देवर राजू और भाभी की चुदाई-4

मेरी बीवी नताशा का पूरा चेहरा, मुंह, गर्दन, बाल वीर्य से ढक गए थे, वो भाग कर बाथरूम में घुस गई.

हम दोनों मर्द रेफ्रीजिरेटर से बियर निकाल कर पीने लगे और नताशा के टैलेंट की चर्चा करने लगे. काफी देर तक सफाई करने के बाद नताशा हमारे पास आई, और हमें गुड नाईट बोल कर सो गई. हमने भी उसे रोकने की कोशिश नहीं की, और कुछ देर बाद मैंने चोर रास्ते से राजू को उसके कमरे में भेज कर खुद भी नताशा की बगल में लेट कर सो गया.

अगले दिन हम सभी देर तक सोते रहे.. हो भी क्यों ना! आखिर हमें अपनी खर्च की गई शक्तियों को पुनर्जीवित जो करना था..

मैंने 12 बजे के करीब जाकर नताशा को टहोका और उसके लिए चाय का गर्मागर्म प्याला मंगवाकर प्यार भरे चुम्बन के साथ उसे जगाया.
नताशा जैसे परीलोक की दुनिया से वापस जमीं पर उतर आई हो, मुझे चुम्बन अंकित करते हुए कहने लगी कि वो सारी रात सपने में भी दो-दो मोटे लंडों के हिंडोले में झूला झूलती रही है!!

‘वॉउ, अब मेरी छोटी सी गुड़िया को दूसरा लंड भी गधे का चाहिये.. बेचारे इन्सान पति के लंड से अब इस नटखट शैतान लड़की का काम नहीं चलेगा.. मैं एक ठंडी आह भरते हुए हंसा- चलो भाई, देखेंगे किसी दूसरे मोटे लंड वाले गधे को भी!
‘हाँ मेरे प्यारे पतिदेव! मजा आ जाएगा.. लेकिन इस अनजाने शहर में तो कोई मिलने से रहा, और मैं तुम्हारे लंड से ही काम चला लूंगी.. राजू का तो लंड है ही ना!!!’ नताशा मदहोश करने वाली मुस्कराहट के साथ बोली और चाय का कप खाली कर वापस रखते हुए बेड से नीचे उतर आई.

फिर हम लोगों ने नित्यकर्म निपटा कर नीचे की ओर रुख किया जहाँ डाइनिंग टेबल पर नाश्ते के साथ राजू हमारा इंतजार कर रहा था.
हम लोग नाश्ता करने के बाद घूमने निकल गए. सुन्दर प्राकृतिक दृश्यों को देखते हुए हम लोग शाम तक घूमते रहे. फिर एक रेस्तराँ में खाने-पीने की इच्छा लिए प्रविष्ट हो गए.

मैंने एक कोने वाली टेबल को चुना और तीनों लोग जाकर उसके गिर्द बैठ गए. कुछ देर बाद आर्डर लेकर वेटर हमें सर्व कर गया, तो मैंने नजर घुमा कर हॉल में बैठे लोगों की तरफ देखा तो पाया कि हमारी टेबल के सामने वाली टेबल पर एक दाढ़ी-मूंछ वाला फोरेनर बैठा बियर की चुस्कियां ले रहा था. उसकी तरफ मेरा ध्यान इसलिए चला गया, क्योंकि उसकी टीशर्ट पर रशियन भाषा में SW लिखा था और उसका लोगो भी बना हुआ था.

मुझे इसका मतलब पता था, ये रूसियों में प्रचलित सेक्स वाइफ लाइफ स्टाइल का निशान है. मैं बहुत आश्चर्यचकित हो उठा कि क्या बात है.. इस सेक्स वाइफ के शौकीन को भी किस्मत ने यहाँ भेजना था!!
मैंने नताशा को इस बारे में बताया तो वो भी आश्चर्यचकित हुए बिना न रह सकी.

फिर मैंने उससे पूछा कि अगर वो कहे तो मैं जाकर उससे बात करूँ?
नताशा बोली- ठीक है!
‘ये भी हो सकता है कि वो खुद ही अपनी वाइफ के साथ हो, और वो मेरी तरह की हो..’
‘अच्छाआआआ .. तो तुम उसकी वाइफ के चक्कर में हो?’
‘बेकार की बातें छोड़ो, पहले मुझे जाकर उससे बात करने दो तब हमें सही बात का पता चलेगा!’ मैंने थोड़ा खिन्न होकर नताशा की बात काटी और जोड़ा- मुझे दूसरों की वाइफ में कोई दिलचस्पी नहीं है, सिर्फ अपनी वाइफ में है..
और मैं उठ कर उस दाढ़ी वाले आदमी की टेबल की तरफ बढ़ गया.

उसके नजदीक जाकर मैंने रशियन में उसका अभिवादन किया तो उसने मुझे बैठ जाने को कहा. फिर अपना हाथ बढ़ाते हुए अपना नाम बोला. मैंने भी गर्मजोशी से उससे हाथ मिलाते हुए अपना नाम बताया और कहा- क्षमा कीजिएगा, मैं आपकी शर्ट पर बने लोगो को देखकर आकर्षित हुआ हूँ, क्या आप सेक्स वाइफ कम्युनिटी के मेम्बर हैं?
उसने हंस कर जवाब दिया- हूँ तो सही, लेकिन आप थोड़ा निराश होंगे यह जान कर कि मेरी कोई वाइफ नहीं है, और मेरी रूचि दूसरों की वाइफ में है.
मैं मुस्कुराने लगा.
तो उसने मुझे सॉरी कहा और बियर पीना शुरू कर दिया.

‘मैं भी सेक्स वाइफ लाइफ स्टाइल का चाहने वाला हूँ और मेरी पत्नी भी!’ मैंने धीमे से कहा तो अनातोली नामक आदमी की आँखें ख़ुशी से चमक उठी. वो टेबल पर झुकता हुआ अपना चेहरा मेरे नजदीक लाकर बोला- सुन्दर वाइफ है? इंडियन है?
‘बहुत सुन्दर, ब्लॉन्ड रशियन वाइफ..’ मैंने बताया तो अनातोली की बांछें खिल उठी और वो बोला- कहाँ रहते हो, या छुट्टियाँ बिताने आए हो उसे लेकर!
‘हाँ, वो भी आई है, हमारी टेबल आपके पीछे वाली है..’

अनातोली ने फ़ौरन पीछे मुड़ कर देखा तो उसे हमारी दिशा में ही देखते हुए नताशा और राजू दिखे. उसने अपनी हथेली दिखा कर उनका अभिवादन किया, जिसका मेरे दोनों सम्बन्धियों ने अपनी हथेलियाँ हिला कर जवाब दिया.

अनातोली ने मुझसे लड़के के बारे में पूछा तो मैंने जवाब दिया कि वो हमारा पार्टनर है.
वो खुश हो गया और बोला- शायद लड़के का लंड काफी बड़ा है!
मैंने जवाब दिया- सबसे बड़ा.. 25 सेमी.
अनातोली मुस्कुराया और बोला कि उसका लंड भी इससे कम नहीं है!!!

और फिर पूछने लगा कि क्या हम MMWM (तीन लड़के+ एक लड़की) ट्राई करना चाहते हैं?
उसके साइज़ के बारे में सुनकर खुश होते हुए मैंने जवाब दिया- कोशिश करके देखने में क्या हर्ज है..
अनातोली उतावला होकर कहने लगा कि इसी होटल में उसका कमरा है, अगर हम चाहें तो उसके कमरे में चल कर बैठ सकते हैं.
मैंने उससे कहा कि अच्छा होगा कि वो हमारे होटल में चले.

अनातोली तैयार हो गया, और फिर मेरे कहने पर हम दोनों उठ कर हमारी वाली टेबल के गिर्द जाकर बैठ गए. उसने पहले राजू, और फिर नताशा से हाथ मिलाया और अपना नाम बताया. प्रत्युत्तर में दोनों ने अपना नाम बोला, और इसके साथ अनातोली ने सभी के लिए ड्रिंक्स आर्डर की. सभी ने चियर्स बोलते हुए अनोखी जान-पहचान के नाम के जाम पिये.

थोड़ी देर वहां बैठने के बाद हम चारों लोग रेस्तराँ से बाहर निकल कर अपने होटल की ओर चल दिए. रास्ते में मैंने उसे जरुरी सावधानी बरतने के बारे में बताया और राजू को अनातोली संग पहले उसके कमरे में ले जाने का आदेश दिया और कहा कि नताशा संग हम लोग उनके बाद होटल पहुंचेंगे.
राजू और अनातोली के निकलने के बाद पत्नी संग मैं थोड़ी देर बाज़ार में टहलता रहा, फिर होटल की तरफ चल दिए.

रिसेप्शन पर पहुँच कर हमने अपने कमरे की चाभी प्राप्त की और अपने कमरे में पहुँच गए. पहले मैंने बाथरूम में घुस कर शावर लिया और टीशर्ट-शॉर्ट्स पहन कर चोर रास्ते से राजू के कमरे में पहुंचा.
कमरे में नहाया-धोया राजू अकेला बैठा बियर की चुस्कियां ले रहा था. उसने बताया कि रूसी मेहमान बाथरूम में है.

कुछ देर में फ्रेश होकर रूसी दढ़ियल भी बाहर आ गया और हम तीनों ने बियर की बोतलें खोली. बियर पीते-2 ही हम लोग चोर रास्ते से मेरे कमरे में पहुंच गए.
नताशा अभी बाथरूम में ही थी, हम तीनों ने सोफे पर बैठते हुए ड्राई फ्रूट्स के साथ बियर पीना जारी रखा.

थोड़ी देर बाद हमारी हेरोइन ने भी बाथरूम का दरवाजा खोल कर बाहर कदम रखा. वो गुलाबी रंग की झीनी नाइटी में गज़ब की सुन्दर लग रही थी और उसने अपने चेहरे पर भी हल्का सा मेकअप कर लिया था. होठों पर गुलाबी रंग की लिपस्टिक गजब ढा रही थी.
उसके कमरे में कदम रखते ही हम तीनों खड़े हो गए और उसके नजदीक पहुँच गए. मैंने उसको गले लगाते हुए उसका नर्म-गुलाबी गाल चूम लिया और कहा- हम तीनों कब से तुम्हारा इंतजार कर रहे हैं.. जरा हमें भी दिखा दो कि तुमने हमारे लिए क्या तैयार कर रखा है!!
और फिर मैंने उसकी नाइटी में हाथ डाल कर उसके स्तन बाहर निकाल लिए.

राजू संग अनातोली भी हमारे नजदीक पहुँच गए और जल्दी से अपनी जीभ निकाल कर उसके बड़े, नर्म-गुलाबी चूचे चाटने लगे. कुछ देर ही चाटने के बाद मेरी पत्नी की चुचियाँ काफी सख्त हो गई, और उसके मुंह से सिसकारियां निकलने लगी.
मैंने उसके होठों में अपनी जीभ घुसेड़ दी और नाइटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाता हुआ उसकी जीभ को चूसने लगा.

नताशा अब तक पूरी गर्म हो चुकी थी और तेज आवाज में सिसकारियाँ भरने लगी थी. मैंने धीरे से उसकी नाइटी निकाल कर सोफे पर उछाल दी और उसे अपने हाथों में उठा कर डबल बेड की तरफ ले जाने लगा, उसे नाजुक हाथों से बेड पर टिका दिया, तो वो अपने घुटनों के बल उस पर बैठ गई.

इस समय तक राजू और अनातोली भी अपने कपड़े उतार चुके थे. नताशा के साथ साथ हम दोनों भी अनातोली का लंड देख कर हैरान रह गए.. उसका लंड अभी पूरी तरह खड़ा नहीं हुआ था लेकिन वो राजू के लंड से बीस था. लम्बाई में भी, और मोटाई में भी!
नताशा ने फटी-2 आँखों से मेरी तरफ देखा तो मैंने कंधे उचका दिए.

मेरे इशारा करने पर बेड की बाई तरफ राजू, और दाई तरफ अनातोली आकर बैठ गए. राजू ने बेड से कमर लगाई और अपने पैरों को फैला कर लेटते हुए, वह अपने दाए हाथ से अपनी भाभी के चूतड़ सहलाने लगा. दाईं तरफ बैठे अनातोली ने अपनी हमवतन लड़की की दाईं चूची उसकी सफ़ेद ब्रेसरी से बाहर निकालते हुए चूसनी शुरू कर दी.

मेरी प्यारी गोरी गुड़िया ने अपने दोनों हाथों से दोनों मोटे लंड पकड़ कर सहलाए और उन्हें हल्के हाथों से मसाज करने लगी.
राजू ने उठ कर बैठते हुए अपनी भाभी को चौपायों पर बैठाते हुए उसके चूतड़ अनातोली की दिशा में कर दिए और मुंह अपनी तरफ!

तोली ने मेरी वाइफ की चूची चूसना बंद कर उसके चूतड़ों के पीछे जाकर उसकी सफ़ेद चड्डी नीचे को सरका दी और झुक कर उसकी गांड चाटने लगा.
उधर नताशा अपने देवर का लंड अपने मुंह में लेकर चुभलाने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह…

मेरी धर्मपत्नी ने राजू का लंड अपने दाएं हाथ से पकड़कर उसके टोपे को अपनी गुलाबी-गर्म जीभ से चाट लिया और फिर उसके अंडे सहलाते हुए, लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.
उधर पीछे तोली पूरे मनोयोग से रूसी लड़की की गांड और चूत चाटने में लगा हुआ था. तोली मेरी नताशा के दोनों छेद फैला-2 कर अपनी जीभ उनमें घुसेड़ने का प्रयत्न कर रहा था. वो अपने मुंह से थूक निकाल कर नताली की गांड पर डाल देता और फिर उसे अपनी जीभ से चाटने लगता.

मैं सोफे पर बैठा हुआ उसे देख रहा था और उसने उंगली के इशारे से मुझे बुलाते हुए अपनी बीवी की गांड चाटने का इशारा किया लेकिन मैंने उसे हथेली दिखा कर मना कर दिया और कहा कि वो जारी रखे, मैं सिर्फ देखना चाहता हूँ.

तोली ने नताशा की गांड चाटना जारी रखा और जीभ द्वारा उसकी चुदाई करना भी… इस बीच नताशा से अपना लंड चुसवाते राजू ने अपना दायाँ हाथ नीचे डालकर नताशा की चूत की क्लिट कुरेदने लगा.
उधर तोली ने अपनी हरामी जीभ से चाट-2 कर नताशा की गांड और चूत को बिल्कुल नर्म कर दिया था और अब उसने सीधे होकर नताशा के चूतड़ों को अपनी हथेलियों से फैला कर चौड़ा करते हुए, अपना लंड थूक लगा कर थोड़ा गीला कर लड़की की चूत से भिड़ाया और अन्दर घुसेड़ दिया.
उसका अमेरिकन हैट जैसा चौड़ा टोपा अन्दर जाने में आनाकानी करने लगा, तो तोली ने नताशा का सीधा हाथ पकड़कर पीछे लाते हुए उसके नितम्बों पर रख दिया. मेरी जानेमन समझ गई और उसने अपने हाथ से चूत का मुंह खोल दिया.
अब अनातोली आहिस्ता-2 अपने लंड को नताशा की चूत में चलाने लगा.

मैं सोफे पर बैठा हुआ देख कर हैरान हो रहा था! मैंने आज तक इतना मोटा लंड नहीं देखा था और अब डर रहा था कि थोड़ी देर में ये लंड मेरे जिगर के टुकड़े की गांड में भी घुसेगा! मेरा डर ठीक निकला और तोली नताशा की चूत मारते हुए कहने लगा कि उसने मेरी बीवी की गांड चाट-2 कर खूब नर्म कर दी है, और अब आसानी से उसका लंड गांड में घुसेगा, और फिर मेरी तरफ देख कर बोला कि यदि मैं चाहूँ तो डबल सेफ्टी के लिए अपने हाथों से अपनी पत्नी की गांड में ज़ेल लगा सकता हूँ.

मुझे यह आईडिया पसंद आया, और मैंने रेफ्रीजेरेटर से नारियल के तेल का डिब्बा निकाल कर थोड़ा सा जम चुका तेल अपनी उंगलियों से बाहर निकाला, और नताशा की चुदती हुई चूत के नजदीक जाकर उसकी गांड के छेद पर मल दिया. चूत के अन्दर लौड़ा चलाते अनातोली ने अपना लौड़ा बाहर निकाला और मेरी तरफ देखा.
मैंने उसकी बात समझ कर अपनी उंगलियों से थोड़ा तेल निकाल कर उसके टोपे पर भी मल दिया.
तोली ने मुस्कुराकर थैंक्यू कहा, और दुबारा मेरी बीवी की चूत मारनी शुरू कर दी.

मुझे तोली का लंड छूने में अलग किस्म का अनुभव हुआ और अच्छा लगा. अब मैंने फिर से डिब्बे से तेल निकाल कर अपनी त्रिपतिव्रता पत्नी की गांड पर मल दिया और अपनी दो उंगलियों को अन्दर घुसेड़ दिया.
मेरी उंगलियों के अन्दर घुसने का मेरी गुड़िया को पता भी नहीं चला, क्योंकि उसकी प्यासी चूत में इस समय तेल लगा खूंटा लंड पूरे आवेग से चुदाई कर रहा था.

तोली ने मुस्कुरा कर मेरी तरफ देखा और फिर अपने लंड से मेरी पत्नी की चूत को चोदते हुए ही मेरी उंगलियों के ऊपर अपनी दो उंगलियाँ उसकी गांड में डाल कर अन्दर-बाहर करने लगा.

मैंने उसके आराम के लिए अपनी उंगलियाँ नताली की गांड से बाहर निकाल ली, तब अनातोली अपनी उंगलियों का हुक बनाकर मेरी बीवी की गांड में फंसाकर खींचने लगा! तोली के इन शैतानी क्रिया-कलापों से उह-आह करती मेरी पत्नी बहुत उत्तेजित हो उठी और अपने हाथ द्वारा अपने गांड के छेद को फ़ैलाने लगी.

उधर अपना लंड चुसवाता राजू भी झुक कर रूसी दढ़ियल के लंड का खेल देखने लगा, उसने मदद के तौर पर नताशा की गांड को अपने हाथों द्वारा थोड़ा और फैला दिया.
तब तोली ने सावधानीपूर्वक अपने तेल चुपड़े लंड को गांड के छेद से सटा कर आहिस्ता-2 अन्दर कर दिया. फावड़े के डंडे जैसे लम्बे-मोटे लंड को रूसी बहुत सावधानीपूर्वक धीरे-2 और थोड़ा-2 नताली की गांड में अन्दर-बाहर करने लगा.
सच पूछो तो तोली सिर्फ अपने चौड़े टोपे को ही मेरी भार्या की गांड में अन्दर-बाहर कर रहा था लेकिन लड़की इतने में ही मुंह खोल कर तनावपूर्ण चेहरे के साथ सांसें लेने लगी थी.

समय बीतने के साथ-2 नताशा के चेहरे का तनाव कम होता जा रहा था. तोली घुटनों पर खड़ी नताशा के पीछे, घुटनों पर ही खड़ा होकर लगभग आधा लंड उसकी कमर को पकड़ कर अपनी ओर खींचते हुए गांड में पेल रहा था.
इतना आलीशान सीन तो मैंने कभी किसी पोर्न फिल्म में भी नहीं देखा होगा!!
ऐसे मोटे, माँसल और भारी-भरकम लंड कम ही मिलते हैं.. लेकिन आज ऐसा ही लंड दुनिया की सबसे सुन्दर पत्नी की गांड में घुसा उसके भाग्यवान पति के सामने ही चुदाई कर रहा था. मेरी पत्नी की गांड का छेद फ़ैल कर चौड़ा हुआ जा रहा था, मानो फटने को है! क्योंकि उसके अन्दर फंसा तोली का मोटा लंड बारीक़ से छेद में मुश्किल से समा पा रहा था.

दूसरी तरफ राजू बेड पर सीधा खड़ा होकर अपनी भाभी की चुचियों के बीच अपना लंड रगड़ते हुए उसके मुंह में घुसेड़ रहा था. इस प्रकार अत्यधिक उत्तेजना के क्षण चल रहे थे.

तोली ने राजू के लंड को लड़की की चुचियों से हटाते उन्हें अपने बड़े-2 हाथों में कस कर पकड़ लिया और अब सिसकारियाँ भरता राजू जब अपने लंड को उसके होठों की तरफ लाता, तो वो उसके टोपे को अपनी जीभ बाहर निकाल कर चाट लिया करती थी.
भयानक लंड के उसके छेदों की चुदाई शुरू हो चुकने के बावजूद अभी तक उसकी चड्डी उसके पैरों में ही फंसी हुई थी और नताशा के पैरों को पूरी तरह नहीं फैलने दे रही थी, इसलिए राजू अपने हाथ बढ़ा कर उसकी चड्डी निकालने लगा.

इस प्रक्रिया में नताशा को अपने घुटनों से उठना पड़ा लेकिन उसके साथ-2 रूसी दढ़ियल भी अपनी स्थिति बदलता रहा और बिना लंड को गांड से बाहर निकाले नताशा को अपने ऊपर लिए-2 ही बेड पर लेट गया.
अब मेरी कर्तव्यपरायण पत्नी अपनी टांगें पूरी फैला कर डरावने-मोटे लंड को अपनी गांड में पिलवाने लगी. राजू बैठा हुआ अपने लंड को सहलाता, दाएं हाथ से भाभी के बाएँ स्तन को दबाने लगा.
तोली का खूंटे जैसा लंड धीमी गति से गांड को चौड़ा करते हुए आधी लम्बाई तक अन्दर घुस रहा था. तभी चुपचाप बैठा राजू उठ कर नताशा की चूत के सामने आता हुआ, लंड से उसकी चूत को टहोक कर अन्दर घुस गया. उसने तोली के लंड के सामानांतर भाभी की चूत मारनी शुरू कर दी और दिल खोल कर पूरा लंड अन्दर घुसड़ते हुए अपनी भाई की पत्नी के बच्चेदानी पर ठोकर मारने लगा.
फिर लंड बाहर निकाल कर देर तक उसकी क्लिट को मसलता रहा जिससे मेरी सुन्दर पत्नी बहुत उत्तेजित हो उठी और मेरी तरफ देख कर अपनी जीभ बाहर निकालने लगी.

मैं समझते हुए उठकर अपना लंड पकडे उसकी ओर गया, और खड़े होकर लंड उसके मुंह में दे दिया. नताली के मुंह की गर्मी महसूस कर मुझे लगा कि मेरी जान आज बहुत उत्तेजित है.. और हो भी क्यों ना, उसके तीनों छेद जो भरे हुए थे!

हम तीनों लड़के पूरी मस्ती के साथ काफी देर तक अप्सरा जैसी सुन्दर लड़की के तीनों छेदों को अपने लंडों से घिसते रहे.. और फिर राजू ने अपना लंड बाहर निकाल लिया, तोली अकेला ही नताशा को अपने लंड पर बिठाए उसकी गांड के अन्दर उछलता रहा.
तोली बहुत ही युक्तिपूर्ण आदमी निकला, उसने सोची-समझी स्कीम के अनुसार चलते हुए अपने विकराल लंड को मेरी पत्नी की गांड का खिलौना बना डाला! इस समय वो पूरा लंड बाहर निकाल कर नताशा को ऊपर की तरफ उठा देता था जिससे उसकी फ़ैल चुकी गांड से फच की आवाज के साथ हवा बाहर निकलती थी और दोनों रूसी प्रेमी हंसने लगते थे.

मुझे मेरी पत्नी के भोले चेहरे की निश्छल हंसी बहुत भा रही थी. मेरी भोली-भाली गुड़िया के चेहरे की हंसी किसी नवजात जैसी फरेब रहित थी और साथ ही किसी देवी जैसी पवित्र भी..

हिंदी चुदाई स्टोरी जारी रहेगी.
3in1@inbox.ru

Check Also

मोनिका और उसकी मॉम की चुदने को बेकरार चूत -5

Monika Aur Uski Mom Ki Chudane Ko Bekarar Chut- Part 5 इस कहानी का पिछला भाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *