Home / ग्रुप सेक्स स्टोरी / लिफ्ट-ड्रॉप यानि उठा-पटक वाली चुदाई-2

लिफ्ट-ड्रॉप यानि उठा-पटक वाली चुदाई-2

Lift Drop Yani Utha-Patak Wali Chudai- Part 2

मेरी कामुक कहानी के पिछले भाग

लिफ्ट-ड्रॉप यानि उठा-पटक वाली चुदाई-1

में आपने पढ़ा:

आर्थर ने उसके नजदीक पहुँचते ही उसकी दूधिया टांगें जकड़ लीं और उनको अपने होंठों से चूमने लगा. उसने मेरी पत्नी को उसके नितम्बों से जकड़ लिया और अपनी तरफ खींचने लगा.
नताशा ने उसके नजदीक पहुँचते ही अपने हाथों से उसकी चैन खोल दी और अपना हाथ अन्दर घुसेड़ कर उसका लंड तलाश लिया.

अपने लंड पर शानदार रूसी लड़की के हाथों का स्पर्श पाते ही आर्थर को मानो करंट सा लगा हो, वो उठ कर खड़ा हो गया और उसने बिजली की तेजी से अपनी पैन्ट उतार फेंकी. अंडरवियर की सामनी दरार से नताशा द्वारा बाहर निकाला हुआ लंड धीरे-धीरे आकार लेना शुरू हो चुका था.

मेरी नताशा अपने घुटनों के बल चलती हुई आर्थर के नजदीक पहुंची और उसे धक्का देकर सोफे पर गिरा दिया. उसके सोफे पर गिरते ही नताशा ने उसके खुले हुए पैरों के सामने घुटनों के बल बैठते हुए उसके अब तक काफी कठोर हो चुके लंड को अपने मुंह में भर लिया और आगे पीछे चलते हुए मेहमान के अभी तक अधूरे खड़े लंड को चूसना शुरू कर दिया.
गर्म मुंह रूपी भट्टी में जाते ही आर्थर का लंड बिजली की गति से शैतानी रूप लेने लग गया और अब उसका मेरी प्यारी सी गुड़िया के नन्हे से मुख में बने रह पाना असंभव हो चला था तो मेरी कर्तव्यपरायण पत्नी ने उसे अपने होंठों के बीच धीरे-2 अन्दर-बाहर दोलन गति करने के लिए छोड़ दिया.

आर्थर अब अपने लगातार फैलते और लम्बे होते जा रहे लंड को मेरी कमसिन बीवी का सिर पकड़ कर उसके मुंह में पचर-पचर की आवाज़ के साथ घुसेड़ने लगा था.
एरिक संग हम उत्तेजित हो अभी तक इस शानदार मुख मैथुन को देखने में तल्लीन थे जबकि एरिक अब अपने हाथ से पैन्ट के ऊपर से ही अपने लंड को मसलने लग पड़ा था.

तभी मेरी नताशा ने सर्बियन मेहमान के अण्डों को चाटना शुरू कर दिया जिससे मेहमान के मुंह से तेज कराहें निकलने लगी, अब उसका लंड मुंह से बाहर आ चुका था और उसका सही आकार हमारी आँखों के सामने थे, जो कि दिल को दहला रहा था. उसका टोपा किसी काऊबॉय के हैट जितना चौड़ा और मांसल था! उसके लंड का आकार तो सामान्य से थोड़ा बहुत ही अधिक था, लगभग 18 या 20 सेमी लेकिन टोपा किसी दैत्याकार मशरूम के जैसा लग रहा था.

पहले ही काफी पी चुके आर्थर पर अब अल्कोहल ने अपना रंग चढ़ाना शुरू कर दिया था और उसने बहुत सख्ती से पेश आते हुए मेरी पत्नी को सोफे पर चित लिटा कर उसकी पीठ के पीछे से अपने लंड को उसकी गुलाबी, सुगन्धित चूत से सटा कर अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया. हालाँकि वो बड़े रफ तरीके से मेरी धर्मपत्नी की चूत मारने में लगा हुआ था लेकिन क्योंकि नताशा को भी नशा चढ़ा हुआ था, इसलिए उसे मजा आ रहा था और वो भी खूब जोर-जोर से चिल्लाते हुए आर्थर के लंड को अपनी चूत में पिलवा रही थी.

कुछ देर बाद आर्थर का लंड हाहाकारी रूप से कठोर होकर आकार में बहुत विशाल हो चुका था, और आर्थर ने अब पोजीशन बदलते हुए नताशा को कुतिया बना कर उसके चौपायों पर खड़ा कर दिया, और खुद अपने घुटनों के बल खड़े होकर पीछे से उसकी नर्म-मुलायम, गुलाबी चूत में धक्के मारने शुरू कर दिए.

नशे में होने के कारण उसका लंड किसी लोहे की रॉड की तरह खड़ा था और उसमें कई घोड़ों की शक्ति आ गई जान पड़ रही थी, जिसके चलते वो किसी आततायी कि तरह मेरी नाजुक पत्नी की चूत को खूब रगड़-रगड़ कर चोदने में लगा था और इसके साथ-साथ अब उसने मेरी नताशा के चूतड़ों पर अपने हाथ से चपत भी मारनी शुरू कर दी थी, जिससे प्रत्येक चपत उसके गोर-गुलाबी चूतड़ों पर लाल निशान छोड़ती जा रही थी, जिससे ऐसा लग रहा था कि मेरी प्राणप्यारी पत्नी को कुछ खास परेशानी नहीं हो रही थी क्योंकि उसके खून में अभी अल्कोहल की गर्मी उसे लगने वाली चोट से ज्यादा थी.

अब तो नताशा इतनी उत्तेजित हो चुकी थी कि स्वयं ही अपने चूतड़ों को आगे-पीछे चलाती हुई आर्थर के लंड को अपनी चूत में अन्दर बाहर करवाने लगी थी. उसने अपने हाथों से सोफे को कसकर पकड़ रखा था और दांत भींचकर अपनी गांड को पीछे की ओर आर्थर के लंड पर पटक रही थी. उत्तेजना के अधिक्य में उसके मुंह से निकलने वाली आवाजें किसी मुर्दे को जगाने के लिए भी काफी थीं.

यहाँ मैं आपको बताना चाहूँगा, कि मैंने हाल ही में अपने फ्लैट में कैपिटल रिपेयर करवाई थी और हाई ग्रेड सीमेंट के साथ री ग्राउटिंग भी, खास तौर पर अपने घर को साउंड प्रूफ करने के लिए! क्योंकि पहले जब सेक्स के समय नताशा चिल्लाती थी तो उसकी आवाज किसी रेल के इंजन की तरह सारे घर में गूंजती थी और अवश्य ही पड़ोसियों को भी सुनाई देती थी. अब इसकी कोई आशंका नहीं थी क्योंकि रिपेयर करने वाली कंपनी की गारंटी थी कि राइफल की गोली की आवाज भी दीवार के पार नहीं पहुँच सकती थी!

“ऊऊऊऊऊ… आआआआ… ओओओओ… आआआ…” नताशा के मुंह से निकलने वाली चीखें अब मुझे जरा भी नहीं डरा रही थीं बल्कि मैं और… और ज्यादा उत्तेजित होता जा रहा था.

आर्थर के मजबूत लंड की रगड़ से मेरी कोमल पत्नी की चूत लाल हो चुकी थी, वो उसे निर्दयता के साथ किसी कुतिया की भांति चोदे जा रहा था. कमरे में भांति-भांति की कर्णप्रिय ध्वनि गुंजित हो रही थी: पच-पच-पच-पच… स्टॉक! पच-पच-पच-पच… स्टॉक! आआआह!! ऊ-ऊ-ऊऊ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआआआ… आह!

हर बार उसके चूतड़ों पर आर्थर की चपत पड़ते ही वो हलाल होते बकरे की तरह चिल्लाती थी जो कि हमें एरिक संग खूब ही उत्तेजित किए जा रही थी.
“ऊ-ऊ-ऊ-ऊ… आआआआ… आह! आख आख आख आआआआ…” आर्थर ने किसी सेनापति की भांति पूरी सिचुएशन को कण्ट्रोल कर रखा था. और तब वह नताशा को उसकी बगल पर लिटा कर उसकी कमर के पीछे चिपक कर लेट गया और अपने लंड से उसकी गांड के छेद को कुरेदने लगा. फिर उसने अपने मुंह से थोड़ा सा थूक निकल कर अपनी उँगलियों पर लगाया और उससे मेरे प्यार की गांड के छेद को तर कर दिया, फिर अपने सांप की छतरी जैसे चौड़े टोपे को मेरी धर्मपत्नी कि गांड से भिड़ा कर जोरदार धक्का मार दिया.

“आआआ… फट गई! आआआआ… ओओओओओ… मर गई! प्लीज निकाल लो…”
आर्थर ने घबरा कर अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो नताशा कराहते हुए बोली- ओओओ ओओओह… कितना भयंकर धक्का था! ऐसे तो मेरी छोटी सी गांड ही फट जाएगी!! तुम प्लीज बस मेरी चूत में ही डालो…
“बस डार्लिंग! इतने में ही फट गई… तुम तो कह रही थी, कि तुम रिया सन से भी अच्छी तरह कर सकती हो?” आर्थर ने होंठों पर ब्य्यंग पूर्ण मुस्कान के साथ कहा.
“बिल्कुल कर सकती हूँ… लेकिन वहां स्टूडियो में सब कुछ रियल नहीं होता, एक-एक शॉट के दस दस रीटेक होते हैं, फैसिलिटी ही अलग होती हैं… और मैं तो आज बिल्कुल ही तैयार नहीं थी एनल सेक्स के लिए… और वो भी ऐसे मोटे ढपाल लंड के साथ!”

प्रत्युत्तर में आर्थर सिर्फ हंसने लगा और उसने अपने कंधे उचका दिए.

यह देख कर नताशा चिढ़ गई और उसने आर्थर के लंड को चूसना शुरू कर दिया. अच्छी तरह से उसके लंड को अपने थूक से तर करने के बाद मेरी पोर्न वाइफ ने उसे अपनी कमर के पीछे लेट कर लंड गांड में घुसेड़ने को कहा.
आर्थर खुश होकर उसके कहे के अनुसार करने लगा लेकिन इस बार बहुत धीरे-धीरे… उसने अपने गर्दभ लंड को मेरी जीवनसंगिनी की गांड में घुसेड़ कर मशीन की सुई की तरह शार्ट धक्के लगाने शुरू कर दिए. नताशा के चेहरे को देख कर साफ पता चल रहा था कि उसे कम्फर्ट तो नहीं है, लेकिन अब इतनी परेशानी भी नहीं जितनी पहली बार हुई थी!

कुछ देर में आर्थर के धक्के और तेज हो गए और वो अपने लंड को ज्यादा अन्दर भी घुसेड़ने लग गया. नताशा भी अब कराहने लगी थी और ये दर्द वाली कराहट नहीं थी!
और कुछ देर के बाद तो नताशा दोबारा पहले जैसी बुलंद आवाज के साथ अपनी गांड में आर्थर के लंड के धक्कों का जवाब देना शुरू हो गई. उसके चेहरे पर अब फिर वही सदाबहार मुस्कान लौट चुकी थी, उसकी गोरी मक्खन जैसी मुलायम गुलाबी गांड को चोदता हुआ आर्थर उत्तेजना से फटा जा रहा था और उसके मुंह से किसी भेड़िये जैसी गुर्राने वाली आवाज निकल रही थी.

अब आर्थर ने एक नए ही पोज़ में नताशा की गांड मारने का फैसला किया और उसने मेरी गुड़िया जैसी पत्नी को उसके पंजे पकड़ कर पेट के बल बिस्तर पर गिरा दिया और उसके पैरों को उसके घुटनों से ऊपर, जांघों से पकड़ कर अपने लंड के नीचे ले आया.
फिर उसने अपने ढपाल लौड़े को दोबारा मेरी बला की खूबसूरत रूसी वाइफ की गांड में घुसेड़ दिया.

नताशा दोबारा कराहने लगी और आर्थर उसकी गांड को अपने लंड पर पटकते हुए उसकी गांड में अपना अमेरिकन काऊबॉय के हैट जितना चौड़ा टोपा अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया. अब आर्थर की सारी एनर्जी नताशा को हवा में झुलाते रहने में, और गांड में धक्के लगाने में ही लग रही थी इसलिए वो चुप था जबकि मेरी पतिव्रता पत्नी अपने पति अर्थात मुझे खुश करने की गरज से अपने गले से संगीतमय ध्वनि निकालती हुई आर्थर के लंड को अपनी गांड में पूरा अन्दर तक घुसवा रही थी.

कुछ देर बाद आर्थर मुश्किल पोज़ में चुदाई करता हुआ थक गया तो उसने नताशा को नार्मल पोज़ में सोफे पर लिटा दिया और अपने निर्दयी लंड के चौड़े टोपे से नीचे स्थित उसकी गांड को कुरेद कर दोबारा चुदाई शुरू कर दी.

नताशा का पेट, उसके स्तन, कंधे, चेहरा, सिर, शानदार सफ़ेद बाल दोबारा हिलने, कम्पन करने लगे. मानो दोबारा जीवन आ गया!

मेरा मानना तो ये है कि जब तक आपकी पत्नी चुद रही है, वो जीवित है, वर्ना तो वो किसी बर्फ की सिल्ली के समान है!

“ऊऊऊऊ… आआआआ… आख!… आउच! उफ़!” मेरी जीवनसंगिनी के दिल की ख़ुशी उसके मुंह से संगीतमय ध्वनि के रूप में बाहर निकल रही थी, जिसको एक डच प्रेमी अपने उड़नखटोले जैसे लंड पर बैठा कर उड़ाए लिए जा रहा था!
वोदका के नशे में झड़ सकने में असमर्थ आर्थर अपने कटार जैसे लंड से दुनिया की सबसे सुन्दर लड़की की गांड को काटे जा रहा था और वो भी ख़ुशी-2 कटती जा रही थी.

“आआआआ… और अन्दर तक घुसेड़ो! और जोर से… और झटके से… ईईईईई… उफ़!… उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओओओओ… कितना शानदार था इस बार तुम्हारा धक्का! जरा एक बार अपने लंड को मेरी गांड के अन्दर गोल-गोल घुमाने की कोशिश करो…”

उत्तेजना से फटे जा रहे आर्थर ने अपने धक्के रोक कर मेरी पत्नी की इच्छा के अनुसार लंड को मेरी भार्या के चूतड़ों के अन्दर रखते हुए अपने कूल्हों को गोलाई में घुमाना शुरू कर दिया.
“आआआआ… ईईईई ईईईई… वाउ! लाइक इन हेवेन! जब वो मेरी गांड के अन्दर घूमता है, तो मैं तो पृथ्वी के चक्कर लगाने लगती हूँ! आआआआ आआआआह! मैं तो उड़ रही हूँ मेरे दोस्त!!”

गोरी रूसी मेम की चुदाई की कहानी जारी रहेगी.
3in1@inbox.ru

Check Also

जूही और आरोही की चूत की खुजली-35

Joohi Aur Aarohi Ki Choot Kee Khujali- Part35 पिंकी सेन नमस्कार दोस्तों आपकी दोस्त पिंकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *