Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ

रोज नई नई गर्मागर्म सेक्सी कहानियाँ Only On Antervasna.Org

जूही और आरोही की चूत की खुजली-3

Joohi Aur Aarohi Ki Choot Kee Khujali- Part3

पिंकी
हाय फ्रेंड्स, आपकी दोस्त फिर आ गई है कहानी के एक नए भाग के साथ, पढ़िए और मज़ा लीजिए।
अब तक आपने मेरी कहानी :- जूही और आरोही की चूत की खुजली-2  में  पढ़ा कि राहुल और आरोही शॉपिंग करते हैं फिर लंच के बाद वो वहाँ से घर के लिए निकल जाते हैं।
घर पहुँच कर आरोही ने एक मादक अंगड़ाई लेते हुए कहा- ओह भाई, बहुत खाना खा लिया.. अब तो नींद आ रही ही.. आआ उउउ..!
राहुल- ये उबासियाँ लेना छोड़ो और जल्दी से मुझे अपनी ड्रेस पहन कर दिखाओ..!
अब आगे…
आरोही कुछ नहीं बोलती और बैग उठा कर अपने रूम में चली जाती है। राहुल भी उसके पीछे-पीछे रूम में चला जाता है।
आरोही बैग को साइड में रख कर बेड पर गिर जाती है।
राहुल- यह क्या है? अब तुम दिखा रही हो या नहीं..!
आरोही- दिखाऊँगी न..! भाई थोड़ा आराम तो करने दो..!
राहुल- ठीक है, करो आराम, मैं जाता हूँ और अब मुझसे बात मत करना.. ओके..!
आरोही- ओह भाई.. आप तो नाराज़ हो गए.. अच्छा बाबा.. यहाँ बैठो, मैं अभी दिखाती हूँ आपको !
आरोही बैग से अपने कपड़े लेकर बाथरूम में चली गई और कपड़े पहन कर बाहर आई।
आरोही- यह देखो, कैसी लग रही हूँ भाई, मैं?
राहुल- अच्छी लग रही हो, अब दूसरा ड्रेस भी पहन कर दिखाओ।
आरोही- भाई मैंने एक ही ड्रेस लिया है, दूसरा जूही का है.. ओके..!
राहुल- मैं जानता हूँ कि दूसरा जूही का है, पर तूने अपने लिए और भी कुछ लिया है न..! वो पहन कर दिखाओ।
आरोही- आर यू क्रेजी..! आप क्या बोल रहे हो..! मैंने और क्या लिया है?
राहुल- अंडर-गारमेंट्स लिए हैं न..!
आरोही- तो आप का मतलब मैं आपको वो पहन कर दिखाऊँ.. भाई आप ठीक तो हो न..!
राहुल- इसमें ठीक होने की क्या बात है, तुमने वादा किया था ओके.. और उसमें क्या है?
आरोही- भाई मुझे शर्म आ रही है, आप कैसी बात कर रहे हो?
राहुल- क्यों.. स्वीमिंग के समय में भी तो सिर्फ़ अंडरवियर में तुम्हारे सामने होता हूँ और तुम भी तो स्विम सूट में मेरे सामने आती हो..!
आरोही- वो दूसरी बात है भाई, ऐसे बिकनी में आना अच्छा नहीं लगता न…!
राहुल- अरे पागल.. बड़ी-बड़ी फिल्म स्टार बिकनी में पोज़ देती हैं और 5 साल पहले याद है हम जंगल में घूमने गए थे, तब बारिश में भीग गए थे और सारे कपड़े गीले हो गए थे, तब मॉम ने हमें नंगा ही गाड़ी में बैठाया था। दूसरे कपड़े भी नहीं थे हमारे पास..!
आरोही- भाई उस समय हम छोटे थे न.. तो चलता है..!
राहुल- तो अब कौन से बड़े हो गए और क्या फ़र्क पड़ गया है, अब यार तुम तो कहती हो कि मुझे फिल्म में हीरोइन बनना है, ऐसे शरमाओगी तो तुम हीरोइन कैसे बन पाओगी?
आरोही- हाँ भाई.. मेरा बहुत मन है कि मैं हीरोइन बनूँ..।
राहुल- तेरा काम बन सकता है, आज जो मेरा दोस्त मिला था न.. रेहान..! वो दुबई में ही बड़ी-बड़ी फिल्मों में पैसा लगाता है, उसकी बहुत पहचान है। अमिताभ से लेकर शाहिद कपूर तक और कटरीना से लेकर सोनाक्षी तक सब के साथ उसका उठना-बैठना है।
आरोही- ओह.. रियली भाई..! आप उससे बात करो न.. प्लीज़ मुझे भी कोई रोल दिलवा दे..!
राहुल- ओके मैं बात कर लूँगा, पर पापा को क्या कहोगी?
आरोही- पापा की टेंशन मत लो, मैं उनको मना लूँगी, बस आप एक बार बात तो करो अपने दोस्त से..!
राहुल- ओके कर लूँगा.. यार, अब तुम जल्दी से बिकनी पहन कर आओ, मैं भी तो देखूँ कि मेरी बहन कैसी दिखती है।
आरोही शरमाति हुई बाथरूम में जाकर ब्लैक वाला सैट पहन कर बाहर आई।
राहुल तो नजरें गड़ाए उसकी गदराई जवानी को देखने लगा- दूधिया बदन पर काली ब्रा में उस के मम्मे बाहर निकलने को बेताब थे और उसकी पैन्टी चूत को छुपाने में नाकाम हो रही थी।
राहुल का लंड पैन्ट में तन गया था।
आरोही- ऐसे क्या देख रहे हो भाई?
राहुल- देख रहा हूँ कि मेरी बहन कितनी सुंदर है।
आरोही- रियली भाई.. थैंक्स..!
राहुल- ब्रा-पैन्टी में इतनी खूबसूरत लग रही हो, अगर ये भी ना हो तो क्या मस्त लगोगी..!
“धत्त भाई.. आप भी..!” बोल कर आरोही भाग जाती है और बाथरूम बन्द कर लेती है।
राहुल- आरोही क्या हुआ यार.. प्लीज़ बाहर आओ न..!
आरोही- बस भाई.. मैंने आपको दिखा दिया, अब मैं कपड़े पहन कर आ रही हूँ।
राहुल- क्यों वो रेड, पिंक और ब्राउन भी तो हैं वो भी पहन कर दिखाओ न..!
आरोही- दो जूही के लिए हैं, मेरी नहीं हैं भाई..!
राहुल- अच्छा रेड वाली तो दिखाओ न..!
आरोही- नहीं भाई अब आप अपने दोस्त से बात करो पहले.. उसके बाद आप जो कहोगे मैं दिखा दूँगी।
राहुल- सच्ची..! जो मैं कहूँ.. वो दिखाओगी तुम?
आरोही- हाँ भाई पक्का वादा है, पर आप बस अपने दोस्त से बात करो।
राहुल- ओके.. मैं अभी उसको फ़ोन करके कल मिलने को बोलता हूँ, अब तो आ जाओ बाहर..!
आरोही- भाई आप जाओ मैं थक गई हूँ बाथ लेकर सोऊँगी अब..!
राहुल- ओके मैं अभी जाता हूँ और रेहान से बात करता हूँ।
राहुल वहाँ से अपने रूम में आया और रेहान को फ़ोन करके ‘बहुत जरूरी काम है’ कह कर शाम को मिलने को बुलाया।
रेहान से बात करने के बाद राहुल नंगा हो गया और अपने लंड को सहलाने लगा।
राहुल- ओह माई स्वीट सिस्टर, तेरे मम्मे क्या कमाल के हैं, उफ.. तेरा गोरा बदन, तेरी चूत भी कितनी प्यारी होगी.. आह आ आ.. साली बहुत नखरे हैं तेरे.. अब देख कैसे तुझे मजबूर करता हूँ नंगी होने के लिए।
आरोही के नाम की मुठ मार कर राहुल शान्त हो गया और सो गया।
शाम को राहुल तैयार होकर बाहर निकला और घर से थोड़ी दूर एक स्टोर के पास खड़ा हो गया। करीब 5 मिनट में रेहान भी आ गया। राहुल कार देखकर झट से अन्दर बैठ गया, रेहान ने कार को आगे बढ़ा देता दिया।
रेहान- हाँ भाई.. अब बोल ऐसा कौन सा जरूरी काम है जो तूने अर्जेंट बुलाया है?
राहुल- अरे यार तू गाड़ी चला, बस मैं बताता हूँ सब..!
रेहान- वैसे जाना कहाँ है, यह तो बता यार..!
राहुल- जाना कहीं नहीं है, बस कार को हाइवे पर ले ले.. लॉन्ग-ड्राइव भी हो जाएगी और बात भी..!
रेहान- अच्छा ठीक है, अब तू बात तो शुरू कर यार..!
राहुल- यार तेरे तो फिल्म वालों से बहुत कनेक्शन हैं, मेरी बहन के लिए बात करनी है तुझसे..!
रेहान- क्या..! फिल्म में तेरी बहन को रोल चाहिए..! कौन सी बहन को..!
राहुल- यार सुबह तो देखा है आरोही को..!
रेहान- अच्छा.. अच्छा कैसा रोल चाहिए.. उसे..! वो तो यार अभी बच्ची है।
राहुल- उसको हीरोइन का रोल करना है।
रेहान- तेरा दिमाग़ खराब है क्या..! हीरोइन का रोल नहीं होता, वो फिल्म की मेन किरदार होती है, और दूसरी बात अभी यार वो बहुत छोटी है।
राहुल- अरे यार तुम बात को समझ नहीं रहे हो.. रोल-वोल कुछ नहीं दिलवाना है, उसको बस ये तसल्ली देनी है कि तुम उसको हीरोइन बना दोगे।
रेहान- ऐसा क्यों.. यार अपनी ही बहन को धोखा दे रहे हो, पूछ सकता हूँ क्यों..?
राहुल- अरे यार धोखा नहीं दे रहा.. बस उसको बकरा बना रहा हूँ।
रेहान- अरे यार वो लड़की है, उसको बकरा नहीं बकरी बनाओ हा हा हा हा..!
राहुल भी हँसने लगता है और अपने मन में कहता ही बकरी नहीं उसको तो मैं घोड़ी बनाऊँगा..!
रेहान- क्या सोच रहा है..!
राहुल- कुछ नहीं यार.. बस ऐसे ही..!
रेहान- अच्छा यह बता कि मेरे बोलने से वो मान जाएगी क्या?
राहुल- नहीं यार वो बहुत स्मार्ट है, ऐसे नहीं मानेगी.. तू थोड़ी एक्टिंग करना.. बस आज रात को तू मेरे घर आ जा, बाकी क्या करना है ये तू खुद सोच लेना..!
रेहान- ओके, मैं 9 बजे आऊँगा लेकिन यार एक बात कहूँ मुझे उसकी कुछ पिक लेनी होगी, ताकि उसको लगे कि रियल में उसको फिल्म में रोल दिलवा रहा हूँ।
राहुल- हाँ क्यों नहीं यार.. ले लेना..!
रेहान- यार वो तेरी सग़ी बहन है.. डर रहा हूँ कुछ गलत ना हो जाए..और कहीं तुमको बुरा ना लग जाए।
राहुल- क्यों मुझे को क्यों बुरा लगेगा यार..!
रेहान- अब यार तू तो जानता ही है न.. कि आजकल की हीरोइन कैसी होती हैं.. उसी टाइप के पिक लेने होंगे..!
राहुल- तो ले लेना न..! यार मुझे कुछ बुरा नहीं लगेगा, मैं तो खुद उसको बोल कर आया हूँ ये सब बातें कि फिल्म लाइन में शर्म नाम की कोई चीज नहीं होती है, वो रेडी है यार..!
रेहान- यार एक बात समझ नहीं आ रही.. तू आख़िर चाहता क्या है.. साफ-साफ बता न..! अपनी सग़ी बहन को मेरे सामने अध-नंगा करने को भी तैयार है, यार मुझे ये सिर्फ़ बकरा बनाने की बात तो नहीं लगती.. बात कुछ और ही है..!
राहुल- अरे यार अब तुझसे क्या छिपाऊँ, तू अध-नंगी की बात कर रहा है, मेरा बस चले तो उसको पूरी नंगी कर दूँ.. पागल हो गया हूँ मैं उसकी जवानी देख कर..!
रेहान- क्या तू होश में तो है..! वो तेरी सग़ी बहन है यार..!
राहुल- तो क्या हुआ दुनिया में बहुत से बहन-भाई चुदाई करते हैं.. मैं कर लूँगा, तो कौन सी आफ़त आ जाएगी..!
रेहान- यार तेरे मन में यह ख्याल आया कैसे और इस गंदे काम में तेरी मदद करके मुझे क्या मिलेगा..!
राहुल- मेरे मन में ये कैसे आया, इस बात को गोली मार और रही तेरे फायदे की बात..! तो यार तू भी चूत का स्वाद चख लेना..!
यह सुनकर रेहान की आँखों में चमक आ गई क्योंकि वो तो सुबह ही आरोही पर फिदा हो गया था और उसे इस बात का अफ़सोस भी था कि राहुल कैसा भाई है, जो अपनी बहन को चोदना चाहता है, पर दिल में ख़ुशी भी थी कि उसको एक कच्ची कली बिना मेहनत के चोदने के लिए मिल रही है।
बस दोस्तों आज के लिए इतना ही अब आगे आप देखना कि राहुल अपने इरादों में कैसे कामयाब होता है और रेहान क्या करेगा..! अब कौन आरोही की सील तोड़ता है और कैसे..?
जूही का क्या होगा.. सब बातों का जबाब आपको आगे मिलेगा, तो पढ़ते रहिए और कमेंट करते रहिए। आप जल्दी से pinky14342@gmail.com पर मेल करो और बताओ कि आपको आज का भाग कैसा लगा..!

Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ © 2018