Home / कोई मिल गया / जूही और आरोही की चूत की खुजली-14

जूही और आरोही की चूत की खुजली-14

Joohi Aur Aarohi Ki Choot Kee Khujali- Part14

पिंकी
हैलो फ्रेंड्स, अब तो आपको जल्दी-जल्दी पार्ट मिल रहे है ना.. फिर भी कोई ईमेल नहीं कर रहे, क्या हुआ स्टोरी में मज़ा नहीं आ रहा क्या..!
ओके अब क्या बात करूँ ..आप कहानी का आनन्द लीजिए।
अब तक अपने पिछले भाग  जूही और आरोही की चूत की खुजली-13  में पढ़ा…
रेहान आरोही को एक फार्म पर ले जाता है जहाँ फिल्म के बहाने अन्ना आरोही की वासना भड़काता है।
आरोही समझ जाती है कि अन्ना क्या चाहता है, पर वो इसके लिए तैयार नहीं थी और उसको मना भी नहीं कर सकती थी।
वो बड़ी दुविधा में आ गई थी कि क्या करे अब…!
अब आगे…
आरोही थोड़ी देर चुप ही पर उसके बाद-
आरोही- सर मैं समझती हूँ, पर एक बार फिल्म शुरू हो जाती तो अच्छा लगता। मैं कहाँ जाने वाली हूँ। आप जब चाहो मैं तैयार हूँ, पर प्लीज़ आज नहीं…!
अन्ना ने उसके मम्मों पर हाथ रख दिया और धीरे-धीरे दबाने लगा।
अन्ना- मैं जानता जी.. तुमको थोड़ा डर होना.. कोई बात नहीं हम इन्तजार करेगा जी.. लेकिन अभी थोड़ा सा प्यार करना चाहता जी.. बस ऐसे ही कल शूटिंग चालू कर देगा जी।
आरोही- ठीक है.. लेकिन जल्दी हाँ.. कल कहाँ शूटिंग होगी और कितने बजे…!
अन्ना मम्मों को दबाता जा रहा था और लौड़ा रगड़ता जा रहा था।
अन्ना- बेबी, कल इसी टाइम आ जाना जी.. बाकी डिटेल मैं रेहान को दे दूँगा अब पाँच मिनट बेड पर आओ ना जी..!
आरोही जानती थी कि अब ज़्यादा मना करना ठीक नहीं होगा, तो वो बेड पे लेट गई, अन्ना खुश होकर उसके पास लेट गया,उसको चूमने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा.
अन्ना- उहह बेबी.. तुम बहुत सेक्सी होना.. ये ‘अनार’ का रस पिलाओ ना.. आज़ाद करो ना इनको…!
आरोही- आ उफ़फ्फ़ ससस्स.. अब आप ही आ उफ्फ कर लो सर जी..!
अन्ना ने आरोही की ब्रा ऊपर कर दी और आरोही के मम्मे आज़ाद हो गए, अन्ना कुत्ते की तरह उन पर टूट पड़ा और आरोही के निप्पल चूसने लगा।
रेहान ने दरवाजे को धीरे से खोल कर देखा तो अन्ना ‘लगा’ हुआ था। तब रेहान ने दरवाजे को बन्द करके खटखटाया तो अन्ना का मूड खराब हो गया और वो उठ कर आरोही को 2 मिनट रुकने का बोल कर चला गया।
अन्ना- क्या हुआ जी.. वो मान गई है ना.. अब तुमको क्या प्राब्लम होना जी..!
रेहान- अन्ना अभी नहीं, तुम कल कर लेना अभी मेरे प्लान का दूसरा भाग शुरू करना है। तुम बात को समझो यार उसकी चूत को मत छेड़ो..!
अन्ना- ओके जी मैं समझता.. लेकिन मेरा पप्पू परेशान होना जी.. बस पाँच मिनट और दो उसके हाथ से पानी निकालने दो न जी…!
रेहान- ओके तुम यहीं रूको.. मैं अन्दर जाकर आता हूँ ओके…!
अन्ना- ओके जी.. जल्दी आना…!
रेहान को देख कर आरोही बैठ गई।
आरोही- ओह गॉड.. अच्छा हुआ आप आ गए.. वो अन्ना तो मेरी हालत खराब करने वाला था। अब क्या करूँ.. समझ नहीं आ रहा…!
रेहान- तुमने सही किया उसको मना नहीं किया पर मैं उसको ज़्यादा कुछ नहीं करने दूँगा। तुम एक काम करो, उसका पानी निकाल दो.. ठंडा हो जाएगा तो हम यहाँ से निकल जाएंगे।
आरोही- हाँ, यह ठीक रहेगा..!
“ओके मैं जल्दी ही उसको भेजता हूँ ..!”
रेहान ने बाहर जाकर अन्ना को समझा कर अन्दर भेज दिया।
अन्ना- बेबी तुम्हारा रेहान को जल्दी होना जी अब मेरा पप्पू को जल्दी प्यार करना जी..!
अन्ना अपनी पैन्ट खोल कर अपना 8″ का काला लौड़ा आरोही के सामने कर देता है। उसे देख कर एक बार तो आरोही को घिन आती है, पर वो मजबूरी में उसको हाथ से पकड़ लेती है।
आरोही- वाउ सर.. आपका तो बहुत बड़ा है और काला ऐसा जैसे कोई साँप हो…!
अन्ना- आ..हह बेबी तुम्हारा हाथ कितना सॉफ्ट जी उफ्फ मज़ा आ गया मेरे नाग के लिए कल अपना बिल खोलना जी.. हम इसको डालेगा अभी जल्दी इसका जहर निकाल दो आहह..!
आरोही उसको आगे-पीछे करने लगी, पर वो जानती थी, ऐसे कुछ नहीं होगा तो उसने आँख बन्द करके लौड़ा मुँह में डाल लिया और उसको चूसने लगी।
अन्ना तो स्वर्ग की सैर पर चला गया था। आरोही ने होंठ टाइट करके अन्ना को इशारा किया कि अब वो आगे-पीछे करे।
अन्ना- आ मज़ा आ रहा है बेबी उफ्फ.. तुम अच्छा चूसती जी.. आ….हह..!
दस मिनट तक आरोही लौड़े को चूसती रही और आख़िर अन्ना ने उसके मुँह में ही पानी छोड़ दिया।
आखिरी पलों में अन्ना ने आरोही का सर पकड़ कर लौड़ा पूरा मुँह में फँसा दिया, जिससे पूरा पानी उसको पीना पड़ा।
अन्ना पूरा शान्त हो गया, तब ही उसने लौड़ा बाहर निकाला।
अन्ना- आ…हह.. मज़ा आ गया बेबी..! अब तुम जल्दी रेडी हो जाओ वरना रेहान गुस्सा होना जी ओके मैं जाता बाहर…!
अन्ना के जाने के बाद आरोही जल्दी से बाथरूम की तरफ भागी, उसको उल्टी जैसा लगा। अन्ना के काले लौड़े से उसको घिन आ रही थी।
पाँच मिनट बाद वो बाहर आई और कपड़े पहन कर रूम से बाहर आ गई।
रेहान- अब चलें..!
अन्ना- ओके जी.. अब आप जाओ कल शूटिंग चालू होना जी.. 9 बजे यहाँ आ जाना…!
वो दोनों वहाँ से निकल गए।
आरोही- थैंक्स रेहान जी आपने बचा लिया.. वो काला सांड तो मेरी जान ले लेता आज…!
रेहान- जान मैंने कहा था न.. कि मेरे होते कुछ नहीं होगा तुमको..!
आरोही- थैंक्स रेहान लव यू सो मच…!
रेहान- जान.. तुमसे एक जरूरी बात करनी थी।
आरोही- हाँ.. कहो क्या है…!
रेहान- जब राहुल को पता चलेगा कि तुम ऐसी फिल्म कर रही हो तो वो मेरे बारे में क्या सोचेगा…!
आरोही- अरे नहीं रेहान जी.. वो कुछ नहीं कहेगा बल्कि वो सिर्फ़ नाम का मेरा भाई है.. मैं सब समझती हूँ कि वो मेरे जिस्म का दीवाना हो गया है..! शायद आपको यह पता नहीं होगा…!
रेहान ज़ोर से हँसता है और आरोही को सब बात बता देता है कि राहुल ने ही उसको कहा था तुमको हेरोइन बनाने के लिए, ताकि वो तुमको चोद सके..!
आरोही- ओ माई गॉड… मैं जानती थी कि कोई तो बात है.. भाई ने मुझे चोदने के लिए आपसे भी कह दिया कि चूत का स्वाद चख लेना.. कितना कमीना होगा न वो…!
रेहान- जान इसीलिए मैंने तुमको उसे बताने से मना किया था। अब सुनो.. उसे कभी मत कहना कि तुम सब जान गई हो और मैंने तुम्हारी सील तोड़ी है। अब तुम वो करो जो मैं कहता हूँ उसका मन भी हल्का हो जाएगा और वो कुछ बोलने के काबिल भी नहीं रहेगा।
आरोही- वैसे एक बात कहूँ.. मेरा भी मन भाई से चुदने का है बहुत स्मार्ट लगते हैं वो…!
रेहान- वाह.. आग दोनों तरफ बराबर लगी है.. अब तुम गौर से सुनो, जो मैं कहता हूँ आज वही सब करना ओके…!
आरोही- ओके बॉस…!
रेहान पंद्रह मिनट तक आरोही को समझाता रहा कि क्या करना है उसको और आरोही बड़े गौर से सब सुन रही थी।
आरोही- वाउ.. रेहान जी यू आर टू गुड.. अब मज़ा आएगा खेल का…!
इसी तरह बात करते हुए वो दोनों घर पहुँच गए…
बस दोस्तो, आज यहीं तक.. अब आगे देखो कि आरोही अपने भाई से चुदवाती है या नहीं.. क्या रेहान की इस हरकत का पता आरोही को चल जाएगा इन सब सवालों के जवाब अगले भाग में दूँगी।
अब आप जल्दी से मेरी आईडी pinky14342@ gmail.com पर बताओ मज़ा आया या नहीं..!
ओके बाय…

Check Also

मेरी चालू बीवी-125

Meri Chalu Biwi-125 मेरी कहानी का पिछला भाग :  मेरी चालू बीवी-124 नलिनी भाभी- क्या अंकुर? …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *