Home / लड़कियों की गांड चुदाई / सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-2

सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-2

Garam Kahani: Sadabahar Smile Wali Gori Gudiya- Part 2

मेरी गर्म कहानी के प्रथम भाग
सदाबहार मुस्कराहट वाली गोरी गुड़िया-1
में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी बीवी को क्सक्सक्स xxx मूवी में गांड चुदाई यानि एनल सेक्स की ब्लू फिल्म में काम करने का मौक़ा मिला.
अब आगे:

थोड़ी देर के बाद दोनों जवानों ने अपने लंड बाहर निकाल लिए और… नताशा के नीचे लेते हुए चंगेज़ ने अपने लंड को चूत से बाहर निकाल कर दो बार झटकते हुए, रुस्लान के लंड से खाली हुई गांड में घुसेड़ दिया. हल्के-हल्के धक्के लगाता हुआ चंगेज़ अपने सख्त लंड को मेरी धर्मपत्नि की गांड में अन्दर-बाहर करने लगा.
पीछे खड़े हुए रुस्लान का लंड अब बेरोजगार हो चुका था क्योंकि नताशा की चूत का छेद तो गांड मारते चंगेज़ के लंड के पीछे छुपा हुआ था!

एक पल को सोचने के बाद रुस्लान ने अपने लंड से चंगेज़ के लंड से चुदती गांड को कुरेदा, और थोड़ी जगह बनाते हुए, लंड पर दबाव डाल, अन्दर कर दिया!
मेरी प्यारी पत्नि के चेहरे पर पल भर के लिए परेशानी के निशान आए, लेकिन अगले ही पल उसने फिर वही सदाबहार मुस्कराहट ओढ़ ली. दो मोटे-मोटे लंड कोमल-गुलाबी गांड में अन्दर-बाहर होने लगे, और रूसी गुड़िया हल्की-हल्की कराहट के साथ दोनों लंडों को अपनी गांड में लेना शुरू हो गई.

गोरी रशियन लड़की के चेहरे के परेशान लक्षण बता रहे थे कि उसे दो मोटे-मोटे लंडों को अपनी गांड में घुसवाते हुए काफी दर्द हो रहा था लेकिन वो किसी तरह से दर्द को बर्दाश्त करते हुए बीच-बीच में दांत फाड़ते हुए मुस्कुराती जा रही थी!
मेरी प्यारी सी गुड़िया ने अपना बाईं हथेली सोफे पर टिका रखी थी और दाएं हाथ से उसने सोफे को कस कर पकड़ रखा था. नीचे लेटे हुआ चंगेज़ मेरी धर्मपत्नि की कमर को पकड़ कर अपने लंड पर पटक रहा था, जबकि पीछे से रुस्लान उसकी गांड पर हाथ टिकाए, अपने लंड को उसकी फटी जा रही गांड में ठूँसे जा रहा था.

दो विकराल लंडों से मेरी बीवी की गांड फटी जा रही थी, यह देख कर पोर्न डायरेक्टर ने इशारा किया और नीचे लेटे हुए चंगेज़ ने अपना लंड बाहर निकाल लिया.
इसी के साथ रुस्लान ने भी उसका अनुसरण करते हुए अपना विकराल लंड मेरी पत्नी के चूतड़ों से बाहर कर दिया.

नताशा का चेहरा राहत भरी मुस्कान से खिल उठा, लेकिन राहत ज्यादा देर के लिए नहीं थी, चंगेज़ ने अगले ही पल दुबारा अपने पत्थर जैसे लंड को नताशा की गुलाबी गांड में घुसेड़ दिया. साथ ही साथ रुस्लान भी पीछे खड़ा हुआ अपने भारी लंड को भरी हुई गांड में ठूंसने की कोशिश करने लगा!

दोनों मर्दों ने अपने आधे-आधे लंड मेरी धर्मपत्नि की गांड में ठूंस कर चुदाई शुरू कर दी. इस बार दोनों लड़कों ने बड़ी ही निर्दयता से अपने लंडों को दो अलग-अलग दिशाओं में चलाते हुए नर्म-गुलाबी गांड का भुरकस बना दिया. मेरी जवान बीवी की गांड भोसड़े की तरह खुल गई थी और दोनों दैत्याकार लौड़े आराम से उसके अन्दर दौड़ लगाने लगे थे.

दोनों लड़कों ने दुबारा मेरी जान की गांड को दो-तीन सेकंड का आराम देकर अहसान किया और फिर भयंकर चुदाई में जुट गए.
‘ओए चीज़.. चीईईज़.. डार्लिंग चीज़!’ उत्तेजना के आधिक्य में रुस्लान गहरे-गहरे धक्के लगाता नताशा की मुस्कराहट देखता हुआ बड़बड़ाने लगा और नतालिया की गांड में घुसा उसका लंड मानो अब मेरी पत्नी के मुंह से बाहर निकलने को हो रहा था!

‘यस.. यस.. दिस इज सो बिग! फक.. फक.. फक माय आस.. फक मोर!’ नताशा एक मंजी हुई पोर्न एक्ट्रेस की तरह चेहरे पर एकदम नेचुरल भाव लाकर चिल्ला रहा थी!
‘चलो अब दोनों के लंड एक साथ चूसो!’ झड़ने से बचने की खातिर लड़कों ने थोड़ी देर को चुदाई रोक दी और रुस्लान ने नताशा का सिर पकड़ कर आज्ञा दी.

ताकतवर लंडों की आज्ञा शिरोधार्य कर मेरी हसीन पत्नी लेटे हुए चंगेज़ का गुलाबी लंड चूसने लगी जबकि घुटनों के बल बैठा रुस्लान लंड को हाथ में पकड़े हुए उसके होठों के बीच टहोकने लगा. रूसी लड़की मदभरी मुस्कराहट के साथ अपनी गुलाबी जीभ बाहर निकाल-निकाल कर दोनों के लंडों को चाटने चूसने में लग गई.
कुछ देर बाद लेटे हुए चंगेज़ ने नतालिया की गांड को अपने लंड के ऊपर पहनाते हुए चोदना चालू कर दिया जबकि सामने खड़े हुए रुस्लान ने आराम के साथ अपने सांवले लंड को उसकी खुली हुई चूत में घुसेड़ कर धक्के मारने शुरू कर दिए.

क्या शानदार नजारा था.. चंगेज़ का विशाल लंड मानो मेरी पत्नी की गांड में किसी खूंटे की तरह फिट होकर उसे अपने अक्ष पर घुमा रहा था और रुस्लान का विकराल लौड़ा नताशा की चिड़िया की खुली चोंच जैसी चूत में घुसा हुआ बिना बाहर निकले अन्दर ही अन्दर धक्के लगाने में मस्त था.
रुस्लान धक्के लगाने में इतना मस्त हो चुका था कि उसे खुद भी अहसास नहीं हुआ कि कब उसका दायाँ हाथ जाकर मेरी पत्नि के उरोजों पर जा टिका, और नताशा के लिए स्थिति को असुविधाजनक बना दिया!
लेकिन क्रू मेम्बेर्स ने डायरेक्टर के कहने पर इशारों में रुस्लान को हाथ हटाने का इशारा कर दिया. रुस्लान ने जल्दी से अपना भारी हाथ गोरी गुड़िया की छाती से हटा लिया और धक्के लगाना जारी रखा.

नताशा के हलक से जोरों की चीखें पूरे हॉल को गुंजायमान कर रही थीं, उसकी सेक्सी आवाज को सुन कर क्रू के हर मर्द का हाथ उसके लंड को मसलने पर मजबूर किए जा रहा था.

इधर रुस्लान ने अपने मोटे लंड को चूत से बाहर निकाल लिया, तो चंगेज़ ने भी अपने लंड को आराम देने की खातिर गांड से बाहर कर, दुबारा अन्दर पेल दिया. इस पर ललचाए रुस्लान ने अपने भसंड लंड से चंगेज़ के लंड से ठसाठस भारी नताशा की गांड को कुरेदना चालू कर दिया!

सारे क्रू मेम्बर्स सांसें रोक कर फिर से डबल एनल एक्शन का इंतजार करने लगे. मेरी प्यारी पत्नि पिछले कुछ समय से इस कला में काफी पारंगत हो चुकी थी, और आज तो वो इस स्पेशल शूटिंग के लिए पूरी तरह से तैयार होकर आई थी, उसने अपने चेहरे पर शानदार हॉलीवुड वाली ट्रेडमार्क स्माइल ओढ़ रखी थी. अपनी किसी भी असुविधा के बावजूद उसने अपने चेहरे से मुस्कान को मिटने नहीं दिया था.

रुस्लान ने हौले से चंगेज़ के लंड के ऊपर से अपने लंड को पतली सी दरार बनाते हुए मेरी बीवी की ठस गांड में पेल दिया!
मुझे अंदाज हो गया था कि मेरी घरवाली को काफी परेशानी हो रही है लेकिन इसके बावजूद वो शानदार मुस्कराहट बिखेरे जा रही थी.

नीचे से चंगेज़ हौले-2 अपने लंड को जड़ तक गांड में चढ़ाता जा रहा था, तो ऊपर से रुस्लान छोटी सी झिर्री को चौड़ा – और – चौड़ा करते हुए अपने विकराल लंड को आधे से अधिक गांड में पेलने लगा था और मेरी पत्नी मेरी तरफ देखते हुए शानदार मुस्कराहट के साथ दो भारी-भरकम लंड अपनी गांड में पिलवाते हुए गर्व का अनुभव कर रही थी.

मैंने वक़्त की नजाकत को समझते हुए, नताशा को अपने हाथों से अपनी नितम्बों को फैला लेने का इशारा किया, तो हिरोइन ने इशारे को सही समझते हुए सफलतापूर्वक अपने पैरों को थोड़ा और चौड़ा कर लिया.
परिणाम काफी अच्छा था.. दोनो विकराल लंड अब और अधिक गहरे घुस कर चुदाई करने लगे!
डायरेक्टर ने प्रशंसमयी चेहरे से मुझे देखा, तो मैंने अपना अंगूठा उठा कर उसका अभिवादन स्वीकार कर लिया.

दोनों लड़के पूरी तन्मयता के साथ गांड का भक्काड़ा बनाने में लगे हुए थे. दोनों ने अपने लंड बाहर निकाले तो नताशा की गांड का खुला छेद किसी भट्टी के मुंह जैसा लग रहा था! चेहरे पर वही एवर ग्रीन मुस्कान! खुले मुंह में शानदार गुलाबी जीभ सभी को दीवाना बना दे रखी थी.

दोनों जवानों ने क्षण भर की रूकावट के बाद दुबारा मोटे लंडों को गुलाबी गांड में धकेल दिया और उसकी डबल गांड चुदाई में ब्यस्त हो गए. ऊपर चढ़े हुए रुस्लान का लंड तेज धक्कों के साथ मेरी बीवी की गांड को चोद रहा था लेकिन नीचे लेते हुए चंगेज़ का लंड सिर्फ टुकर-२ चुदाई ही कर सकने में समर्थ था.

मैंने चंगेज़ की तरफ इशारा करते हुए उसे थोड़ा सा नीचे सरक कर लेटने को कहा तो डायरेक्टर ने भी मेरी बात का समर्थन कर दिया और चंगेज़ थोड़ा सा नीचे को सरक आया. फलस्वरूप अब वो खुल कर, पूरे लंड को नताशा की गांड में अन्दर-बाहर करने लग गया!
अब दोनों ही लड़के बारी-बारी से अपने लंड को बाहर निकाल कर दूसरे को चोदने देते और दुबारा अपना लंड घुसा कर मेरी सुन्दर बीवी की गांड में फचर-फचर की आवाज के साथ चोद मचाना चालू कर देते!

हमारी हिरोइन भी अब तक काफी अभ्यस्त हो चुकी थी और आराम के साथ दोनों लंडों को अपनी गांड में गहरे घुसवाने में दिक्कत महसूस नहीं कर रही थी. नीचे से नताशा की गांड लेते हुए चंगेज़ ने उसकी जांघें पकड़, ऊपर को उठाते हुए नताशा की चुदाई फैक्ट्री को किसी हुक्के की तरह ऊपर को उठा दिया, जिससे गांड में अन्दर-बाहर होते हुए दो भयानक, मोटे लंड और सरलता के साथ घपा-घप गोरी-गुलाबी गांड को चोदने लग गए.

फिर चंगेज़ ने अपने लंड को बाहर निकाला तो गर्ल फ्रेंड को थोड़ा सा विश्राम देते हुए रुस्लान ने भी अपना बाहर निकाल लिया और चंगेज़ नीचे की ओर झुक कर मेरी प्राणप्यारी पत्नि की चूत को चाटने लगा. वो चूत पर थोड़ा सा थूक देता और फिर जीभ से उसे चूत पर फ़ैलाने लगा!
इस प्रक्रिया में मेरी जानेमन को बहुत मजा आने लगा, वो जोर-जोर से सिसकारी भरने लगी.

तभी नीचे लेटे हुए रुस्लान ने अपना भारी-भरकम लंड आराम फरमा चुकी गांड में घुसेड़ दिया और ऊपर से चंगेज़ ने इस बार अपने द्वारा चुसी हुई चूत को निशाना बना लिया. मूसल जैसे दो-दो लंडों से एक साथ चूत और लंड में चुदते हुए नाता आनंद के अतिरेक में आसमान में उड़ने लगी, अपनी आँखें बंद कर जोर-जोर से सिसकारियां भरने लग गई.
मेरी हसीन पत्नि का ऐसा सुन्दर रूप देख कर ऊपर से चोदता हुआ चंगेज़ बहुत उत्तेजित हो उठा और जोर-जोर से हुन्कार भरता हुआ लंड को एक्सप्रेस ट्रेन की रफ़्तार से गांड में चलाने लगा.

कैमरे के पीछे बैठे हुए डायरेक्टर ने इशारे से उसे बताया कि अभी नहीं झड़ना है… और लड़के ने अपनी रफ़्तार धीरे करते हुए, पोज़ को थोड़ा सा बदल दिया. उसने रुस्लान के पेट के ऊपर लेटी हुई रूसी लड़की के चूतड़ों को थोड़ा ऊपर की ओर उठा दिया और अपने लंड को बाहर निकाल कर दूसरे कोण से अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया.

अब चुदाई आसान नहीं थी.. क्योंकि किसी काऊबॉय के हैट जैसे चौड़े टोपों वाले लंड अब गांड के छेद में ऊपर-नीचे फंस कर अन्दर-बाहर हो रहे थे, जिससे मेरी प्यारी बीवी की नर्म गांड दो-दो खूंटों को अन्दर लेते हुए फटी जा रही थी!
मुझे स्क्रीन पर चल रही फिल्म की ओर देखने पर साफ़ पता चल गया कि इस समय मेरी पत्नि का सबसे छोटा छेद उसके सबसे बड़े छेद से भी बड़ा हो चला था!
मानो नताशा ने मेरे मन के भावों को पढ़ लिया हो…

गांड की चुदाई की गर्म कहानी जारी रहेगी.
सभ्य तरीके से कमेंट्स व विचार आमंत्रित हैं.
3in1@inbox.ru

Check Also

मोनिका और उसकी मॉम की चुदने को बेकरार चूत -5

Monika Aur Uski Mom Ki Chudane Ko Bekarar Chut- Part 5 इस कहानी का पिछला भाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *