Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ

रोज नई नई गर्मागर्म सेक्सी कहानियाँ Only On Antervasna.Org

Category: जवान लड़की

जवान लड़की को प्रेम प्यार के चक्कर में फांस कर सेक्स का मजा लेने या अपनी अन्तर्वासना शांत करने के लिए चूत चुदवाने वाली कहानियाँ हिंदी में

jwan Ladki Ko Prem Pyar ke chakkar me fans kar sex ka maja lene ya apni antarvasna shant karne ke liye bur chudvane vali kahaniyan

Indian Sex stories of teen girls and Boys

दोस्त की सेक्सी बहन की चुदाई

Dost Ki Sexy Behan Ki Chudai अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरा नाम आशीष है, मैं गाज़ियाबाद का रहने वाला हूँ और फ़िलहाल दिल्ली में जॉब कर रहा हूँ। मैं आपको अपनी साथ बीती सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ। बात करीब एक साल पहले की है। दिल्ली में मेरा एक […]

केले का भोज-4

Kele Ka Bhoj-4 मेरी कहानी का पिछला भाग :- केले का भोज-3 क्षितिज कहीं पास दिख रहा था। मैंने उस तक पहुँचने के लिए और जोर लगा दिया… कोई लहर आ रही है… कोई मुझे बाँहों में कस ले, मुझे चूर दे… ओह… कि तभी ‘खट : खट : खट’… मेरी साँस रुक गई। योनि एकदम […]

 केले का भोज-3

Kele Ka Bhoj-3 मेरी कहानी का पिछला भाग :- केले का भोज-2 मैंने योनि के छेद पर उंगली फिराई। थोड़ा-सा गूदा घिसकर उसमें जमा हो गया था। ‘तुम्हें भी केले का स्वाद लग गया है !’ मैंने उससे हँसी की। मैंने उस जमे गूदे को उंगली से योनि के अन्दर ठेल दिया। थोड़ी सी जो उंगली […]

मोनिका और उसकी मॉम की चुदने को बेकरार चूत -2

Monika Aur Uski Mom Ki Chudane Ko Bekarar Chut- Part 2 अब तक मेरी कहानी  :- मोनिका और उसकी मॉम की चुदने को बेकरार चूत -1 आपने पढ़ा.. कि किस तरह मैं गेट का एग्जाम देने राउरकेला गया और उधर पहले से चुदी हुई मोनिका और उसकी मॉम की चूत को चोदने का खेल शुरू […]

केले का भोज-2

Kele Ka Bhoj-2 आपने मेरी पिछली कहानी :- केले का भोज-1 मुझे उसके दोस्तों को देखकर उत्सुकता तो होती पर मैं उनसे दूर ही रहती। शायद नेहा की बातों और व्यवहार की प्रतिक्रिया में मेरा लड़कों से दूरी बरतना कुछ ज्यादा था। वह नहीं होती तो शायद मैं उनसे अधिक मिलती-जुलती। उसके जो दोस्त आते […]

मोनिका और उसकी मॉम की चुदने को बेकरार चूत -1

Monika Aur Uski Mom Ki Chudane Ko Bekarar Chut- Part 1 दोस्तो, मैं सुशांत चंदन, आप सभी ने मेरी बहुत सी कहानियाँ पढ़ी हैं और बहुत सारे ईमेल करके मेरा हौसला भी बढ़ाया है.. इस बात के लिए मैं आप लोगों का आभारी हूँ। मैं एक बार फिर से बता दूँ कि मेरी सारी कहानी […]

केले का भोज-1

Kele Ka Bhoj-1 प्रिय पाठको, आपने मेरी पिछली कहानियों स्‍वीटी और पुष्‍पा का पुष्‍प को जितना तहेदिल से पसंद किया है उससे मेरे इस विश्‍वास को बल मिला है कि हिन्‍दी में परिष्‍कृत भाषा में सुसंस्‍कृत पात्रों को लेकर रची गई कहानियाँ पसंद की जा सकती हैं और उनका पाठक वर्ग कोई छोटा नहीं होगा। […]

पुष्पा का पुष्प-4

Pushpa Ka Pushp-4 कहानी का पिछला भाग :- पुष्पा का पुष्प-3 कुछ क्षणों पहले हाथ भी नहीं लगाने दे रही थी। अभी मस्ती में सराबोर है। मैं और उत्साहित होकर थूथन घुसा घुसाकर उसके गड्ढे को कुरेदता हूँ। उसके मुँह से कुछ अटपटी ऍं ऑं की सी आवाजें आ रही है। साथी अगर स्वरयुक्त हो तो […]

पुष्पा का पुष्प-3

Pushpa Ka Pushp-3 कहानी का पिछला भाग :- पुष्पा का पुष्प-2 बाहर कल की तरह सन्नाटा था, रात अधिक हो रही थी, नींद आज भी नहीं आ रही थी। यद्यपि आज किसी का इंतजार नहीं था। खिड़की से आती हवा में हल्की ठण्ड का एहसास हुआ लेकिन गुलाबों की आती खुशबू अच्छी लग रही थी। घड़ी […]

चेतना की चुदाई उसी के घर में -3

Chetna Ki Chudai Usi Ke Ghar Me-3 अब तक आपने मेरी पिछली कहानी  चेतना की चुदाई उसी के घर में -2  मे पढ़ा.. मैंने कहा- जान.. अगर तो इसको खा जाएगी.. तो मैं तुझे कैसे चोदूँगा? वो मुस्कुराने लगी.. बोली- खा तो लूँगी पर मुँह से नहीं.. मैं हँस पड़ा। फिर धीरे-धीरे उसने लण्ड के टोपे […]

पुष्पा का पुष्प-2

Pushpa Ka Pushp-2 कहानी का पिछला भाग :- पुष्पा का पुष्प-1 उसकी पनीली आँखों में, जिनमें एक अजब-सा मर्म को छूता भाव उमड़ रहा था। शर्म से लाल गालों पर झूलती लट, बालों के बीच सफेद मांग ! खाली। मेरे भीतर कुछ उमड़ आया। उस तमाम निर्भयता और तेजी के पीछे एक अदद औरत उमड़ रही […]

चेतना की चुदाई उसी के घर में -2

Chetna Ki Chudai Usi Ke Ghar Me-2 अब तक आपने मेरी पिछली कहानी  चेतना की चुदाई उसी के घर में -1  मे पढ़ा.. कुछ ही पलों में मैंने अपना सारा माल वहीं पर गिरा दिया। अभी मैं स्खलित होने के बाद अपने लण्ड को पोंछ कर पैन्ट के अन्दर डाल ही रहा था कि तभी मैंने […]

पुष्पा का पुष्प-1

Pushpa Ka Pushp-1 सुबह की स्वच्छ ताजी हवा में गुलाब के ताजा फूलों की खुशबू फैल रही थी। शहर के कोलाहल से दूर प्रदूषणमुक्त शांत वातावरण में फूलों की सुगंधभरी ताजी हवा में घूमते हुए मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था। हर तरफ गुलाब फैले थे भाँति भाँति के- लाल, गुलाबी, काले, बैंगनी, उजले… […]

चेतना की चुदाई उसी के घर में -1

Chetna Ki Chudai Usi Ke Ghar Me-1 दोस्तो, जैसा कि आप जानते हैं मैं सुशांत पटना से हूँ। आपने मेरी अभी हाल में प्रकाशित दो कहानियाँ अन्तर्वासना पर पढ़ीं.. अब आपको एक और कहानी सुनाने जा रहा हूँ.. बात तब की है.. जब मैं पढ़ता था। तब से ही मुझे सेक्स करने की चाहत थी। […]

स्वीटी-2

Sweety-Part2 स्वीटी-1 और तब मुझे पता चला कि मेरी जांघों पर कोई मोटी चीज गड़ रही है। जांघों के बीच इधर उधर फिसलती हुई कुछ खोज रही है। फिर वह मेरे कटाव में उतरी और वहँ के चिकने रस में फिसलकर दबाव में एकदम नीचे उतरकर गुदा के छेद पर दस्तक दे गई। मेरे भीतर […]

महकती कविता-2

Mahakti Kavita- Part 2 महकती कविता-1 अब तो कविता का भी यह रोज का काम हो गया, रोहण को मुठ्ठ मारते देखती और फिर खुद भी हस्तमैथुन करके अपना पानी निकाल देती थी। कब तक चलता यह सब? कविता ने एक दिन मन ही मन ठान लिया कि वो रोहण को अब मुठ्ठ नहीं मारने […]

स्वीटी-1

Sweety-Part1 मैं एकदम चौंक पड़ी। अभी कुछ बोलती ही कि एक हाथ आकर मेरे मुँह पर बैठ गया। कान में कोई फुसफुसाया- जानेमन, मैं हूँ, सुरेश। कितनी देर से तुम्हारा इंतजार कर रहा था। मैं चुप ! सुरेश, वही स्मार्ट-सा छोरा जो लड़कियों के बहुत आगे पीछे कर रहा था। मैं दम साधे लेटी रही। […]

गांड मरवा कर प्रेमी को तृप्त किया-1

Gand Marva Kar Premi Ko Tript Kiya- Part 1 मेरी पिछली सेक्स कहानी सहकर्मी को चुत चुदाई का मजा दिया में आपने पढ़ा कि मेरे ऑफिस का एक लड़का विनय मुझे चोदने के बाद मेरे फ्लैट पर छोड़ गया और शाम को अजय अपना SSC का एग्ज़ाम देकर आया तो मुझे फ्लैट पर देख कर […]

मैं कॉलगर्ल कैसे बन गई-1

Main Callgirl Kaise Ban Gai- Part 1 मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी एक फ्रेंड की संगत के कारण ये मेरी रियल सेक्स स्टोरी बन गई है. उसको मैं अच्छी तरह से जानती थी. कॉल गर्ल बनने के बाद मैं उसके साथ कई बार एक ही बिस्तर पर अलग अलग लंडों से चुद भी चुकी थी. जब […]

बहन की चूत चोद कर बना बहनचोद -17

Bahan Ki Chut Chod Kar Bana Bahanchod-17 अब तक आपने मेरी पिछली कहानी मे  बहन की चूत चोद कर बना बहनचोद -16  पढ़ा… मेरी ट्रेन आ गई थी.. मैंने फोन रखना चाहा.. लेकिन वो बातें करने लगी और मैं बात करते-करते ही ट्रेन पकड़ ली। वो बात करती रही.. मैं मन ही मन सोच रहा था […]

Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ © 2018