Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ

रोज नई नई गर्मागर्म सेक्सी कहानियाँ Only On Antervasna.Org

बीवी की सहेली की इंडियन चुत को जम कर चोदा

Biwi Ki Saheli Ki Indian Chut Ko Jamkar Choda

दोस्तो, अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है, बीवी की सहेली की इन्दिना चुत की चुदाई की…

मेरा नाम समीर है, उम्र 27 साल, लंड की साइज़ 7.5 इंच है. मैं मुंबई में रहता हूँ, मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं, अब तक कोई बच्चा नहीं हुआ है, पर मुझे अलग अलग औरतों को चोदने का बहुत शौक है, अगर मुझे हर रात भी चोदने को मिले तो मैं चोदूंगा. मुझे अलग अलग औरतों के साथ चुदाई करने का इतना अधिक पागलपन है.

मेरी बीवी की एक सहेली है जिसका नाम राखी है, वो ब्यूटी पार्लर चलाती है. तो मेरी बीवी सब मेकअप आदि उससे ही करवाती है. राखी दिखने में नॉर्मल दुबली पतली सी है, पर उसका बदन 36-30-36 का है. वो भी शादीशुदा है, उसकी शादी को 5 साल हो गए हैं. मेरी जब से शादी हुई है, तब से मैं उसको चोदना चाहता था.

दो साल बाद लम्बे इन्तजार के बाद आख़िर वो टाइम आ ही गया.

एक दिन रात के टाइम मैं व्हाट्सैप पर सबकी डीपी देख रहा था, तो मैंने देखा राखी रात के 3 बजे भी ऑनलाइन थी.
मैंने हाय किया तो उसने भी हाय किया और बोली- जीजा जी, अभी तक जाग रहे हो?
मैंने जवाब दिया- हाँ, तुम्हारी सहेली मुझे जगा के सो गई है.
वो मजाक करते हुए बोली- मैं सुलाने आ जाऊं?
तो मैंने कहा- नेकी और पूछ पूछ… आ जाओ लेकिन तुम्हारा पति है तो कैसे आओगी?
वो बोली- वो मुझ पे छोड़ दो.
मैंने कहा- ठीक है, जब भी आना हो, एक दिन पहले कॉल कर देना.

हम दोनों ने इसी तरह मजाक करके एक दूसरे को गुड नाइट बोला और सो गए.
कुछ दिन तक उससे कोई बात नहीं हुई.

फिर एक दिन मेरी बीवी को ब्लीच और सब मेकअप वगैरह करवाना था तो उसने राखी को कॉल करके घर पे बुला लिया. उसने राखी को 5 बजे का टाइम दिया.

इसके बाद अचानक मेरी बीवी को उसकी माँ का कॉल आया तो उसको एक घंटे के लिए वहाँ जाना पड़ा.

उसके निकलते ही राखी आ गई.
दरवाजे की बेल बजी तो मैंने दरवाज़ा खोला. वो मुझे देख कर बोली- विधि कहां है?
मेरी बीवी का नाम विधि है.
मैंने मस्ती करते हुए कहा- उसको मैंने बाहर भेज दिया क्योंकि तुम्हारे साथ थोड़ा अकेला टाइम चाहिए था. उस दिन रात में तुमने ही तो बोला था, तो लो आज मैं और तुम अकेले हैं.
वो बोली- प्लीज़ मस्ती मत करो, बताओ विधि कहाँ है? कब तक आएगी?
मैंने कहा- उसकी माँ का कॉल आया था तो वो वहां गई है, एक घंटे में आ जाएगी.

राखी बैठ गई. हम दोनों बात करने लगे बात करते करते अचानक से राखी का दुपट्टा गिर गया. मेरी नज़र उसके तने हुए मम्मों पर चली गई. दूर से दूधघाटी दिख रही थी. मेरा तो दिमाग़ ही खराब हो गया, इतने खूबसूरत चूचे थे, इतने गोरे गोरे कि मेरा तो लंड सीधा खड़ा हो गया.

बातों ही बातों मैं ये भी भूल गया था कि मैंने सिर्फ ट्रेकसूट का पजामा पहना था अंडरवियर नहीं पहनी थी.. इस वजह से मेरा 7.5 इंच लंबा लंड सीधा खड़ा हो गया और पजामा में ऊपर से ही तना हुआ दिखने लगा.

राखी ने वो देख लिया, फिर भी उसने अनदेखा किया और बोली- जब तक विधि आती है, मैं आपके और मेरे लिए चाय बनाती हूँ.
मैंने कहा- ठीक है..

फिर वो किचन में चली गई, पर मेरा तो पूरा मन उसको चोदने का हो गया था. मैं उसके पीछे किचन में आ गया और उससे बातें करने लगा.

बातों ही बातों में मैंने बोला- राखी, उस दिन इतनी रात को किससे चैट कर रही थीं.. शादी के बाद भी ब्वॉयफ्रेंड है क्या?
वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है.
मैंने थोड़ी हिम्मत करके बोला- यार तुम हो तो बहुत खूबसूरत.. अगर मेरी शादी तुम्हारी सहेली से नहीं हुई होती तो तुमको भगा ले जाता.
वो बोली- कुछ भी जीजा जी.. फ्लर्ट कर रहे हो?
मैंने कहा- नहीं सच्ची.. तुम बहुत हॉट और सेक्सी हो.

ये वर्ड्स बोलने पर जब उसने स्माइल दी तो मैंने थोड़ी और हिम्मत की.
मैंने बोला- राखी उस दिन रात को तुमसे चैट करने के बाद मैंने तुम्हारा ही सपना देखा.
“कैसा सपना?”
“अगर बोलूँगा तो तुम बुरा मान जाओगी.”
उसने कहा- बोलो जीजा जी मैं बुरा नहीं मानूँगी.
मैंने कहा- उस दिन मैंने देखा कि तुम और मैं मेरे घर में अकेले हैं और हमारे बीच वो सब हो गया.
वो हंसते हुए बोली- जीजा जी, मस्का मार रहे हो.

इस स्माइल के बाद तो मेरी हिम्मत बहुत बढ़ गई और मैंने उसको पीछे से जाकर पकड़ कर पागलों की तरह उसके गले पर, फेस पर चूमने लगा.
उसने मुझे बहुत रोका, पर मैं नहीं माना. फिर मैंने उसको बेडरूम में लाकर बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.
उसने बहुत बोला कि मैं विधि को बोल दूँगी, पर मैं तो पागल हो गया था. मैंने बिना टाइम गंवाते हुए उसकी लैगी खींच कर उतार दी और उसकी चूत में उंगली डाल दी.

मेरे पास ओर कोई रास्ता नहीं था, जैसे ही इंडियन चुत में उंगली डाली तो वो सिहर उठी और तड़फ कर बोली- उफ्फ़ हमम्म्म… अरे ईई जीजा जी ये क्या कर दिया.
मैं भी धीरे धीरे उंगली अन्दर बाहर करने लगा और वो धीरे धीरे आपे से बाहर होने लगी.

फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चुत पर टिका दी, वो तो पागल हो गई, बोली- जीजा जी ऐसा मत करो.. ये ग़लत है. मैं अपने कंट्रोल में नहीं रह गई हूँ.. प्लीज विधि आ जाएगी.
पर मुझे तो उसको चोदना था, बीवी के आने का डर भी था, फिर भी मैंने अपना 7.5 इंच लंबा लंड निकाला और उसके सामने कर दिया. वो तो लंड देख कर पागल हो गई.
बोली- जीजा जी इतना बड़ा..! विधि तो नसीब वाली है.. रोज़ रोज़ इतना बड़ा लेती है.

मैंने बिना बात किए हुए लंड पर तेल लगाया और उसकी चुत में आधा घुसा दिया. लंड घुसते ही वो जोर से चिल्लाई. फिर मैंने धीरे धीरे पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर घुसा दिया. बस 5 मिनट बाद वो भी नॉर्मल हो गई और मेरा साथ देने लगी.

उस दिन डर की वजह से हम दोनों ने आधे घंटे में ही काम पूरा कर लिया. वो मेरे लंड से चुद कर बहुत खुश हुई.
जैसे ही वो कपड़े आदि पहन कर नॉर्मल हुई तो कहने लगी- जीजा जी, आपने आज ये अच्छा नहीं किया.
वो ये सब बोलने लगी और उस बीच मेरी बीवी आ गई तो राखी चुप हो गई.

फिर वो मेरी बीवी का सब पार्लर का काम करके चली गई.

इसके 8 से 10 दिन तक उसका कॉल या मैसेज कुछ नहीं आया. अचानक 12 दिन बाद उसका कॉल आया और वो बोली- जीजा जी, कहाँ हो.. मुझे अर्जेंट मिलना है, काम है.
मेरी तो फट गई, मैंने बोला- घर पे आ जाओ.

वो एक घंटे बाद घर पे आई और पहले तो उसने मुझसे सामान्य बात की फिर बोली- जीजा जी, उस दिन के बाद मैं आपको भूल नहीं पा रही हूँ.
मैंने बोला- मेरा भी सेम टू सेम यही हाल है, लेकिन तेरे पति की वजह से मैं तेरे को कॉल नहीं कर सकता हूँ.
वो बोली- आज विधि कब आएगी.. कहाँ गई है?
मैंने बोला- आज कोई टेंशन नहीं है, वो अपनी सिस्टर के साथ पूना गई है. रात तक आएगी.

बस फिर क्या था, वो और मैं एक दूसरे पे टूट पड़े.

वो बोली- जीजा जी उस दिन वाला करो ना.. मेरी चुत चाटो ना.. मेरा पति तो ओरल सेक्स जैसा कुछ भी नहीं करता है, बस चढ़ता है और पानी गिरा कर उतर जाता है. जरा भी एंजाय नहीं करता है.
मैंने बोला- आज तो मैं फुल एंजाय करूँगा मेरी रानी.

मैंने उसकी जीन्स और टी-शर्ट उतार दी और उसका पूरा बदन चूमना स्टार्ट कर दिया. फिर धीरे धीरे उसकी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी.

वाह क्या चिकना बदन और चिकनी चुत थी उसकी.. क्या बोलूं.. वो अपनी इंडियन चुत को फुलकट क्लीन शेव करके आई थी.
मैंने जैसे ही अपनी जीभ उसकी चुत में डाली, वो मज़े के मारे खुश हो गई और गांड उठाते हुए बोली- आआह राजा.. उह्ह एयाया हमम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… जीजा जी बहुत मजा आ रहा है.. पहली बार चुदाई इतनी मस्त लग रही है.. आआह हमम्म ऊउउ सस्स्श जीजा जी और ज़ोर से चाटो..

मैंने दस मिनट चूत चाटने के बाद बोला- अब तुमको भी ओरल सेक्स करना पड़ेगा, मेरा लंड मुँह में लेना पड़ेगा.
वो बोली- जीजा जी जो बोलोगे, वो करूँगी.. मैं तो आपके लंड की दीवानी बन गई हूँ.

फिर हम लोग 69 की अवस्था में आ गए. वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चुत चाट रहा था. आहह क्या जन्नत का नज़ारा था.. जब उसने मेरा लंड मुँह में लिया.. आआह.. सस्स्स्शह एयाया ऊऊऊ लंड की माँ चुद गई.
वो कामुक आवाज़ें निकाल रही थी और लंड चूस रही थी.

बीस मिनट तक ये सब करने के बाद वो बोली- जीजा जी, मैं एक बार तो झड़ गई हूँ.. अब तो प्लीज़ मेरी प्यास बुझा दो.
मैंने तेल लगाया क्योंकि उसकी चुत बहुत टाइट थी.. वो दुबली थी और शायद उसके पति का लंड भी मरियल ही था.
फिर मैंने धीरे धीरे लंड उसकी चुत में डालना चालू किया. जैसे ही साली की चुत में लंड का सुपारा अन्दर गया, वो आज फिर से चिल्लाई और बोली- जीजा जी बाहर निकालो प्लीज़..
मैं बोला- रुक जा धीरे धीरे मजा आएगा.

फिर जैसे ही उसका दर्द कम हुआ, मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया. अब उसको भी धीरे धीरे मजा आने लगा था. पांच मिनट बाद तो राखी गांड उचका उचका कर चुदवाने लगी.
वो बोले जा रही थी- आह.. मजा गया चोदो जीजा जी और चोदो.. आज बहुत सालों बाद इतना मजा आ रहा है आह.. मेरा पति तो साला चूतिया है भोसड़ी का मजा ही नहीं देता है.. आह.. पेलो.. वो तो बस सीधा सीधा लंड डालता है और पुल्ल पुल्ल करके उतर जाता है.. आह.. चोदो जीजा जी ज़ोर से चोदो..

ऐसे बोलते बोलते कुछ मिनट बाद राखी झड़ गई और निढाल से स्वर में बोली- बस जीजा जी, बस मेरा हो गया.
मैंने कहा- साली जी आपका हुआ है.. मेरा नहीं…

फिर मैंने उसको अपने हाथों में उठाया और उससे अपने हाथों से मेरे गले में पकड़ने का बोला. उसने ऐसा ही किया तो मैंने उसको अपने लंड पर बिठाया और ज़ोर ज़ोर से झूला झुलाते हुए चोदने लगा.
अब वो कलपते हुए रो रही थी.

फिर 5 मिनट बाद मैंने उसको बोला- ठीक है.. तेरा हो गया तो मैं तेरी गांड मारूँगा.
उसने कहा- हाँ चलेगा.. मेरे पति ने भी 3-4 बार मेरी गांड मारी है.

बस फिर तो क्या था.. मैंने लंड पर तेल लगाया और गांड में लंड पेल दिया. उसकी तो आवाज़ ही बंद हो गई.
मैंने बोला- क्या हुआ.. तूने ही बोला ना तेरे पति ने तेरी गांड मारी है.
फिर वो रुआंसी सी बोली- उसका आपके लंड जितना बड़ा नहीं है.

मैं जरा रुक गया, मेरे साथ 5 मिनट बात करने के बाद वो भी मेरा साथ देने लगी और उछल उछल कर मुझसे डॉगी शॉट में गांड मरा रही थी. कुछ मिनट बाद मेरा माल निकलने वाला था.
मैंने कहा- राखी, मैं निकलने वाला हूँ.
वो बोली- जीजा जी, मेरी चुत में डालो, मैं आपका पानी महसूस करना चाहती हूँ.

मैंने अपना लंड उसकी गांड से निकाल कर उसकी चुत में पेल दिया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. दो मिनट बाद मेरा पूरा पानी उसकी चुत में भर गया और वो ज़ोर से अपनी चुत सिकोड़ने लगी.

पूरी चुदाई होने के बाद मैंने बोला- कैसा लगा राखी?
वो बोली- जीजा जी मैंने ऐसा पहले कभी नहीं किया है… मेरी शादी के बाद आज पहली बार मुझे इतना अधिक मजा आया है. विधि नसीब वाली है, जो आप जैसा जम के चोदने वाला पति मिला है.
मैंने उसको बोला- राखी, तू भी तो आज से नसीब वाली बन गई ना और वैसे भी मैं डरता था लेकिन मैं भी पिछले 2 साल से तेरे को चोदना चाहता था. आज 2 साल बाद साली की चुत चुदाई की मेरी दिल की तमन्ना पूरी हुई है.
वो बोली- जीजा जी, सच्ची बोलूँ तो एक बार मैं भी आपसे चुदना चाहती थी. जब से विधि के साथ आपको देखा था, मेरी चुत आपसे चुदना चाहती थी. मगर विधि मेरी बेस्ट फ्रेंड है, इसलिए मैं हिम्मत नहीं कर पाई. पर आज 2 साल बाद हम दोनों की कामना पूरी हुई.

उसके बाद उस दिन हम दोनों ने और दो बार पूरी मस्ती से चुदाई का मजा उठाया. इसके बाद रात को राखी खुशी खुशी चली गई.
अब हम लोग हर महीने में एक बार तो चुदाई करते ही हैं.

दोस्तो, आप सबको मेरी ये इंडियन चुत की चुदाई की स्टोरी कैसी लगी.. मुझे ज़रूर बताना.
sameerbj88@gmail.com

Antervasna - Hindi Sex Stories | नई हिन्दी सेक्स कहानियाँ © 2018