Home / चाची की चुदाई / बारिश में भीगी मामी को पटा कर उनकी चुदाई की

बारिश में भीगी मामी को पटा कर उनकी चुदाई की

Barish Mein Bhigi Mami Ko Pata Kar Chudai Ki

अन्तर्वासना की देसी कहानी पढ़ने वाले सभी रीडर्स को मेरा नमस्कार!

सबसे पहले में अपने बारे में बता देता हूँ. मैं 19 साल का 6 फीट लंबा, 9 इंच के लंड वाला हैंडसम लड़का हूँ. मुझे शुरू से ही सेक्स में बहुत इंटरेस्ट है. मैं ब्लू फिल्म्स देखता रहता था. मैं अक्सर मुठ भी मारा करता था.

अब मैं आपको अपनी मामी के बारे में बता देता हूँ. मेरी मामी की उम्र 34 साल है और वो गोरी-चिट्टी मस्त फिगर वाली औरत हैं. उनका फिगर 36-29-36 का है.. वो दिखने में बहुत सेक्सी हैं.

यह बात 3 साल पुरानी है, जब मैं पढ़ता था. मैं शुरू से ही अपने मामा के घर रहता हूँ. मेरा मामा का डेरी फार्म है और वो अक्सर बाहर रहते हैं. मेरे घर पर मेरे अलावा मेरी मामी, छोटे मामा उनकी वाइफ और दोनों मामा के 5 बच्चे हैं और नाना-नानी भी हैं.

सब लोग अपने-अपने काम पर चले जाते थे और नानी पड़ोस में चली जाती थीं. छोटी मामी खेत में चली जाती थीं. घर पर ज्यादातर बड़ी मामी ही रहती थीं.

उस दिन सेकेंड सॅटर्डे था, सारे बच्चे स्कूल गए हुए थे क्योंकि उनकी छुट्टी नहीं थी. मेरी नानी अपने घर गई हुई थीं. उस दिन घर पर सिर्फ़ मैं और मेरी मामी थे. मेरी मामी और मैं आपस में मजाक कर लेते थे, पर मैंने आज तक उनको कभी गलत नजरों से नहीं देखा था.

उस दिन सुबह 10 बजे बारिश होने लगी. मामी छत से कपड़े उतार कर लाईं पर वो बारिश में पूरी तरह से भीग गईं.

मामी ने पीले रंग का सूट डाल रखा था. जब मैंने उनको देखा तो देखता ही रह गया. उनका सूट पूरी तरह उनके शरीर से चिपका हुआ था और उसमें से उनकी ब्रा और पेंटी साफ़-साफ़ दिख रही थी. मैं गर्म होने लगा, मेरा लंड उनको देख कर खड़ा होने लगा. उनके मम्मों को देख कर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया.

मैं मामी को चोदने के बारे में सोचने लगा, पर मुझे समझ नहीं आ रहा था कि कैसी शुरुआत करूँ. मामी मेरे पास मजे से बैठी थीं, मैं लेटा हुआ था, मेरा मन कर रहा था कि उनके चूचों को चूस जाऊं और उनकी चुत में अपना मोटा लंबा लंड डाल कर जमकर उनकी चुदाई करूँ.
ये सोचते-सोचते 11 बज गए. मामी ने कपड़े बदल लिए और वे किचन में चाय बनाने लगीं.

मैं भी किचन में चला गया और मामी से बोला- मामी आप बहुत खूबसूरत हो.
मामी हंस पड़ीं.
मैं बोला- मामी, मैं आपके गले लगाना चाहता हूँ.
जैसा कि मैंने बताया कि मैं मामी के साथ मजाक कर लिया करता था.

तो मामी ने कहा- तो लग जा.
मैं उनके गले लग गया, उनके चूचे मुझे टच हुए तो मेरा लंड फनफना कर उनकी चुत पर लगा.. क्योंकि वो खड़ा था.

मैंने कमर पर हाथ के साथ मामी को अपनी तरफ़ भींच लिया.
मामी बोलीं- यह क्या कर रहा है?
मैं बिना सोचे-समझे… बिना कोई परवाह किए बोला- मामी एक बात बोलूँ.. बुरा मत मान जाना!
मामी बोलीं- नहीं मानूंगी.. बोल क्या बात है?
मैं बोला- मामी, आज आपको बारिश में भीगा देख कर मुझे कुछ महसूस हुआ.
मामी ने पूछा- क्या महसूस हुआ?
मैं बोला- मैं नहीं बताता..
मामी बोलीं- बता ना..
मैं बोला- पहले मेरी कसम खाओ किसी से नहीं कहोगी.
मामी मान गईं.

मैं बोला- मामी जब आप भीगी हुई थीं.. तो आपकी ब्रा और पेंटी दिख रही थी.
मामी बोलीं- हट बदमाश..

फिर मामी अपने बेडरूम में आ गईं. मैं भी उनके साथ आकर बेड पर बैठ गया.

मामी ने कहा- और भी कोई बात है या यही बात थी?
मैं बोला- बात तो बहुत लंबी है.
मामी बोलीं- फिर पूरी बात साफ़-साफ़ बता ना, अब तो मैंने तेरी कसम भी खा ली है.
मैं बोला- मामी, आज आपके भीगे शरीर को देख कर आपके बड़े-बड़े चूचों को देख कर और आपकी सेक्सी गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.
मामी नॉटी अंदाज़ में बोलीं- अच्छा जी.. आज मुझे देख कर मेरे भांजे राजा का खड़ा हो गया.

मामी के इन शब्दों ने मेरे तन-मन में आग भड़का दी.

फिर मामी बोलीं- और क्या हुआ?
मैं बोला- बस तभी से आपकी चुदाई करने का मन कर रहा है.
मामी ने मुझे प्यार से गाल पर हाथ लगा कर बोला- कुछ तो शर्म कर.. मैं तेरी मामी हूँ.
मैं बोला- जो मेरे मन में था.. मैंने बता दिया.

मुझे यकीन था कि मामी किसी को नहीं बताएंगी क्योंकि उन्होंने मेरी कसम खाई है.. इसलिए मैं थोड़ा ज्यादा खुल गया.
मैं बोला- एक दिन के लिए आप मेरी मामी मत बनो प्लीज़.. मुझे आपकी चुदाई करनी है.

मैंने उस टाइम निक्कर और टी-शर्ट डाल रखी थी.. नीचे कोई अंडरगार्मेंट नहीं था. इतना कहते ही मैं मामी के ऊपर टूट पड़ा और उनके हाथों को अपने हाथों से पकड़ कर उके गुलाब जैसे होंठों को किस करने लगा.

मुझे लगा शायद मामी भी गर्म हैं.. क्योंकि 5 मिनट हम किस करते रहे. मामी ने मुझे गेट बंद करके आने को बोला, मैं जल्दी से गेट बंद कर आया.

अब मैं मामी से लिपट गया और उनको किस करने लगा. फिर मैं मामी का शर्ट ऊपर करने लगा.
मामी बोलीं- मेरे राजा, मैं निकाल देती हूँ.

मामी ने शर्ट निकाला.. वाह क्या नजारा था. मामी की बड़ी-बड़ी चूचियां ब्रा से आधी बाहर दिख रही थीं. मैं उनको ब्रा के बाहर से ही दबाने लगा. फिर मैंने मामी की सलवार भी निकाल दी. मामी मेरे सामने ब्लू-कलर की ब्रा और पेंटी में थीं. वो बहुत ज़्यादा सेक्सी लग रही थीं. मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए.

मामी ने मुझे बताया कि मामा ने 4 महीने से उनकी चुदाई नहीं की है. ये सुन कर मेरा जोश और भी बढ़ गया फिर मैं उनकी ब्रा खोल कर उनकी चूचियों पर टूट पड़ा. उनकी चूची को अपने मुँह में भर लिया.. उनको खूब दबाया और मसला.

मामी के मुँह से मादक सिसकारियाँ निकल रही थीं- आह्ह.. उह अहा.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… एहह.. ऊओईई…
मेरा जोश बढ़ता जा रहा था. फिर मैंने मामी की पेंटी निकाली और उनकी चुत को देख कर बेकाबू सा हो गया. मामी की चुत पर एक भी बाल नहीं था. बिल्कुल चिकनी और गोरी चुत थी.

मैंने मामी की चूत में अपनी उंगली डाल दी. मामी के मुँह से फिर से मादक सिसकारियाँ निकलने लगीं- अहा.. आअहह.. उम्म्मह..
उनकी चुत से पानी आने लगा. फिर मामी का ध्यान मेरे लंड की तरफ़ गया वो बोलीं- इतना बड़ा है तेरा.. हे राम..!
मैं बोला- मामी, सबका इतना ही तो होता है.

मामी बोलीं- नहीं इतना नहीं होता. तेरे मामा के तो इसमें 2 बन जाएंगे.

फिर मामी मेरे लंड को सहलाने लगीं. मुझे अजीब सी गुदगुदी महसूस हो रही थी.
मैं मामी से बोला- मामी अपनी टांगें चौड़ी करो, मैं आपकी चुत चाटूंगा.
मामी ने पहले तो चुत चटवाने से मना कर दिया. फिर मेरे बार-बार कहने पर मान गईं. मैंने जैसे ही अपनी जीभ उनकी चुत पर लगाई, उनकी मादक सिसकारियाँ फिर शुरू हो गई- एहह.. उम्म्म्म.. मज्जा आअहह..

क्या मस्त स्वाद था मामी की चुत का.. आह.

मामी 5 मिनट बाद झड़ गईं. मैं उनका सारा रस पी गया. फिर थोड़ी देर बाद मैंने मामी को गर्म किया और उनसे अपना लंड चूसने को बोला. मामी मना करने लगीं लेकिन मान गईं. वो मेरी लंड लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं. कुछ मिनट में मैं भी झड़ गया और मामी मेरा सारा माल पी गईं.

मामी मेरे ऊपर लेट कर मेरे सीने को चूमने लगीं. थोड़ी देर बाद मैं भी मामी को चूसने लगा, उनके चूचों दबाने लगा.
फिर मामी ने कहा- कुत्ते अब मुझे चोद दे, बुझा दे मेरी चुत की प्यास और मत तड़पा कमीने भेनचोद..

मामी के मुँह से गालियां सुन कर मुझे और भी ज्यादा सेक्स चढ़ गया. मैं बोला- साली रंडी अपनी टांगें चौड़ी कर..
मामी ने चुत खोल दी.

मैंने अपना लंड मामी की चुत पर लगा दिया, फिर एक झटका मारा और लंड का टोपा मामी की बुर में घुस गया. मामी मादक सिसकारियाँ लेने लगीं. मैं भी स्वर्ग जैसा मज़ा महसूस करने लगा.

फिर मैंने एक और झटका मारा और मेरा आधा लंड मामी की चुत में समा गया. फिर 2-3 धक्के और मारे और पूरा लंड मामी की चिकनी चुत में घुसा दिया. मामी मादक सिसकारियाँ ले रही थीं. मामी की चुत टाइट थी क्योंकि वो 4 महीने से नहीं चुदी थीं.

फिर मामी ने कहा- भोसड़ी के आज मिला मुझे तेरा लंड.. पिछले 4 महीने से मुझे तेरे लंड का इंतज़ार था.
मैं बोला- वो कैसे?
मामी बोलीं- जब से तेरे मामा ने मुझे चोदना छोड़ा है. तब से मैं तेरे ही लंड के सपने देखती हूँ.. तुझे मुठ मारते भी देखती हूँ और नहाते हुए भी देखती हूँ.
मैं बोला- सेक्सी डार्लिंग फिर पहले क्यों नहीं बताया.
मामी बोलीं- मैं डरती थी.

फिर मैं मामी को ज़ोर से चोदने लगा और काफी देर तक दमदार चुदाई करने के बाद में मामी की चुत में झड़ गया. हम एक-दूसरे से लिपट कर निढाल हो गए.
मामी बोलीं- ये मत सोचना कि तूने पहली बार मेरी चुत को देखा चाटा और चोदा है.. ये सब तो तू बहुत पहले कर चुका है.
मैं बोला- मामी मजाक मत करो.
मामी बोलीं- तेरी कसम.
मैं बोला- बताओ ना प्लीज़?
मामी बोलीं- जब तू छोटा था और उस वक्त जब तेरे मामा रात को बाहर होते थे. तो तू मेरे पास मेरे कमरे में सोता था. मैं तेरे और अपने कपड़े निकाल देती थी और तुझसे खूब अपनी चुत चटवाती और तेरा लंड चूसती थी. तेरा लंड तब भी 5 इंच का था. तू मेरे चूचे बड़े मज़े लेकर चूसता था और मेरी चुत मारता था.

ये सुनकर मैं हैरान था क्योंकि मुझे कुछ याद नहीं था.

मैं आज भी अपनी मामी को चोदता हूँ और हमेशा चोदता रहूँगा. वो भी मुझसे चुद कर बहुत खुश हैं.
देसी कहानी पर अपने विचार मुझे मेल करें!
16ajaysingh@gmail.com

Check Also

माँ ने चाची की चूत दिलवाई

Maa Ne Chachi Ki Choot dilwayi दोस्तो, मेरा नाम सैम है, मैं 26 साल का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *